मोदी सरकार - 2.0 के 100 दिन

नई दिल्‍ली/बेंगलुरू, एजेंसी। Karnataka Crisis Live कर्नाटक में सियासी उठा पटक के कारण सियासी समीकरण पल-पल बदल रहे हैं। डिप्‍टी सीएम समेत कांग्रेस के 21 मंत्रियों ने इस्‍तीफा दे दिया है। इससे पहले राज्‍य के मंत्री एवं निर्दल विधायक एच नागेश (H Nagesh) ने मंत्री पद से इस्‍तीफा देने के साथ ही मौजूदा कांग्रेस-जेडीएस सरकार (JD(S)-Congress) से समर्थन वापस लेने का एलान कर दिया। लोकसभा में भी कर्नाटक में गहराए राजनीतिक संकट का मुद्दा उठा। इस मसले पर कांग्रेस सांसदों ने लोकसभा में हंगामा किया। कांग्रेस नेता अधीर रंजन चौधरी ने इस सियासी संकट के लिए भाजपा को जिम्‍मेदार ठहराया तो केंद्रीय मंत्री राजनाथ सिंह ने कहा कि भाजपा का इससे कोई लेना देना नहीं है। इस बीच जेडीएस के भी सारे मंत्रियों ने अपने मंत्री पद से इस्‍तीफा दे दिया है। कर्नाटक के मुख्‍यमंत्री एवं जेडीएस नेता कुमारस्‍वामी (HD Kumaraswamy) ने दावा किया है कि इस संकट को सुलझा लिया गया है। यह सरकार सुचारु रूप से चलेगी।   

Live Update-

09.10 PM: पूर्व मुख्यमंत्री और कांग्रेस नेता सिद्धारमैया और दिनेश गुंड्डू राव ने विधानसभा अध्‍यक्ष को चिट्ठी लिखी है और मांग की है कि कांग्रेस के बागी विधायकों की सदस्यता रद्द कर दी जाए।

08.30 PM: कांग्रेस के नेता केसी वेणुगोपाल, दिनेश गुंडू राव, सिद्धारमैया, जी परमेश्वर, एमबी पाटिल और ऐश्वर खांडरे ने एक अज्ञात स्थान पर बैठक की, जिसमें कानूनी सलाहकारों ने इस्तीफा देने वाले विधायकों के खिलाफ आगे की कार्रवाई के बारे में चर्चा की।

08.10 PM: जेडीएस के विधायकों को लेकर एक बस देवनहल्ली में प्रेस्‍टीज गोल्‍फशायर क्‍लब नंदी हिल्‍स रोड जा रही है। इससे पहले वे ताज वेस्‍ट एंड होटल में रुके हुए थे।  

08.05 PM: कर्नाटक के सीएम पर राज्‍य के पूर्व मुख्‍यमंत्री और भाजपा के वरिष्‍ठ नेता बीएस येदियुरप्पा ने कहा कि सीएम कह रहे हैं कि सरकार आराम से चल रही है। दो निर्दलीय विधायक गर्वनर से मिल और उन्‍होंने भाजपा के समर्थन में पत्र सौंप दिया है। अब हमारी 105 से बढ़कर 107 हो गई है। यहां तक कि वे अपना बहुमत खो चुके हैं, फिर भी कुमारस्‍वामी ऐसा कह रहे हैं। जनता सब कुछ देख रही है। आगे हम देखते हैं और इंतजार कर रहे हैं। 

07.55 PM: भाजपा विधायक अरविंद लिंबावली ने कहा कि लेकिन इस सरकार ने हमारा एजेंडा बदल दिया क्योंकि वे अब अल्पमत में आ गए हैं। सवाल यह है कि यह सरकार स्‍थायी है या नहीं।  इस पर दो दिनों तक इंतजार करने और यह देखने के लिए चर्चा की गई कि क्या यह सरकार इस्तीफा देती है या नहीं। इसके बाद कार्रवाई का इंतजार करेंगे।  

 07.50 PM: भाजपा विधायक अरविंद लिंबावली ने कहा कि पिछले एक साल से प्रदेश में सूखा और इंफ्रास्‍ट्रक्‍चर को लेकर समस्‍याएं हैं। कांग्रेस सरकार में यहां कोई विकास नहीं किया गया। 12 जुलाई को शुरू हो रहे विधानसभा सत्र के लिए इन मुद्दों को रखने के लिए आज की बैठक बुलाई है।  

07.40 PM: रोशन बेग ने कहा कि जिस तरह से कांग्रेस पार्टी ने व्‍यवहार किया है, उससे मैं काफी अपमानित महसूस कर रहा हूं। मुझे निलंबित कर दिया क्योंकि मैंने कड़वी सच्चाई बोली। राज्य नेतृत्व विफल रहा है, कोई जवाबदेही नहीं है। मैं मुंबई या गोवा नहीं जा रहा हूं, मैं बेंगलुरू में ही हूं। मैं विधायक के पद से इस्‍तीफा दे रहा हूं और भाजपा में शामिल हो रहा हूं। भाजपा के लोग मेरे संपर्क में हैं।  

07.30 PM: कांग्रेस नेता बैठक के लिए कुमारा करुपा गेस्ट हाउस पहुंचे। कर्नाटक कांग्रेस प्रभारी केसी वेणुगोपाल ने कहा, 'डोंट वरी'। 

 07.10 PM: हंगामे के कारण मुंबर्इ के होटल में रुके कांग्रेस और जेडीएस के बागी विधायकों को शिफ्ट गोवा किया गया। 

06.15 PM: कांग्रेस के मंत्री और  नेता डीके शिव कुमार बेंगलुरू से मुंबई के लिए निकले हैं। 

05.55 PM: कर्नाटक के मंत्री और निर्दलीय विधायक आर शंकर ने मंत्रिमंडल से इस्‍तीफा दिया। उन्‍होंने भाजपा के समर्थन का प्रस्‍ताव किया। अब भाजपा समर्थकों की संख्‍या 107 हुई।  

05.35 PM: मुंबई में सोफिटेल होटल के बाहर यूथ कांग्रेस के कार्यकर्ताओं ने प्रदर्शन किया, जहां पर कांग्रेस और जेडीएस के विधायक ठहरे हुए हैं।

 05.25 PM: राज्‍य के पूर्व मुख्‍यमंत्री और भाजपा के वरिष्‍ठ नेता बीएस येदियुरप्पा ने कहा कि अभी हम भाजपा विधायक दल की बैठक कर रहे हैं। उसके बाद हम उचित फैसला लेंगे। कल हमारे कार्यकर्ता प्रदर्शन करेंगे क्‍योंकि काग्रेंस- जेडीएस अपना बहुमत खो चुके हैं और मुख्‍यमंत्री को तत्‍काल इस्‍तीफा देना चाहिए। यही लोगों की आकांक्षा भी है। उन्‍होंने आगे कहा कि वे अपना बहुमत खो चुके हैं। उन्‍हें अब सत्‍ता में बने को कोई हक नहीं है। इसलिए हम मांग कर रहे हैं कि सीएम तत्‍काल इस्‍तीफा दें।

 05.10 PM: बेंगलुरू में भाजपा विधायक दल की बैठक में भाजपा नेता पहुंच रहे हैं। 

05.05 PM: बेंगलुरू में विधायकों की खरीद फरोख्‍त का आरोप लगाकर सड़कों पर कांग्रेस और जेडीएस के कार्यकर्ताओं ने प्रदर्शन किया।  

03.55 PM: कांग्रेस विधायक सौम्‍या रेड्डी (Soumya Reddy) कल बेंगलुरू में कांग्रेस विधायक दल (Congress Legislative Party, CLP) की बैठक में भाग लेंगी। उनके पिता रामालिंगा रेड्डी (Ramalinga Reddy) भी कांग्रेस विधायक हैं जिन्‍होंने अपने पद से इस्‍तीफा दे दिया है। 

03.40 PM: कर्नाटक के निर्दलीय विधायक एच नागेश मुंबई के सोफिटेल होटल पहुंच गए हैं। इसी होटल में इस्‍तीफा देने वाले दूसरे विधायक भी ठहरे हुए हैं। नागेश ने आज ही मंत्री पद से इस्‍तीफा दे दिया है। यही नहीं उन्‍होंने कहा है कि वह भाजपा यदि सरकार बनाती है तो वह उसका समर्थन करेंगे। 

03.30 PM: कांग्रेस के 21 मंत्रियों की तरह ही अब जेडीएस के भी सारे मंत्रियों ने अपने पद से इस्‍तीफा दे दिया है। कर्नाटक सीएमओ की ओर से बताया गया है कि जल्‍द ही राज्‍य में दोबारा कैबिनेट का गठन किया जाएगा। 

02.30 PM: कर्नाटक के मुख्‍यमंत्री एवं जेडीएस नेता कुमारस्‍वामी (HD Kumaraswamy) ने कहा, 'इस संकट को सुलझा लिया गया है। सरकार सुचारु रूप से चलेगी।' उन्‍होंने यह भी कहा कि मुझे मौजूदा सियासी के बारे में कोई चिंता नहीं है। मैं राजनीति के बारे में कुछ भी चर्चा नहीं करना चाहता हूं।

01.20 PM: कर्नाटक संकट के मुद्दे कांग्रेस सांसदों ने लोकसभा में हंगामा किया। कांग्रेस नेता अधीर रंजन चौधरी ने इस सियासी संकट के लिए भाजपा को जिम्‍मेदार ठहराया। इस पर केंद्रीय रक्षा मंत्री राजनाथ सिंह ने कहा कि कर्नाटक में आज जो कुछ हो रहा उससे भाजपा का कोई लेना देना नहीं है।  

01.10 PM: कर्नाटक कांग्रेस विधायक दल के नेता सिद्दारमैया ने कहा कि राज्‍य कांग्रेस के 21 मंत्रियों ने स्‍वेच्‍छा से अपना इस्‍तीफा दे दिया है। माना जा रहा है कि संकट को सुलझाने की सभी कोशिशें बेकार होने के बाद बेंगलुरू में जी परमेश्‍वर के आवास पर हुर्इ बैठक में कांग्रेस म‍ंत्रियों के इस्‍तीफे का फैसला लिया गया। 

12.40 PM: कर्नाटक में निर्दलीय विधायक एच नागेश (H Nagesh) ने मंत्री पद से इस्‍तीफा देने के बाद विशेष विमान से मुंबई के लिए उड़ान भरी है। बता दें कि इस्‍तीफा देने वाले कांग्रेस-जेडीएस के बाकी 11 विधायक भी मुंबई में ही एक होटल में डेरा डाले हुए हैं। 

11.55 AM: भाजपा नेता शोभा करंदलाजे (Shobha Karandlaje) ने बेंगलुरू में येद्दयुरप्‍पा (BS Yeddyurappa) के आवास के बाहर कहा कि कर्नाटक के मुख्‍यमंत्री को तुरंत इस्‍तीफा दे देना चाहिए। कांग्रेस विधायकों ने पहले ही इस्तीफा दे दिया है। वह बहुमत खो चुके हैं। अब उनको दूसरी सरकार के लिए रास्‍ता बनाना चाहिए। 

11.35 AM: कर्नाटक के मंत्री और निर्दल विधायक नागेश (Nagesh) ने मंत्री पद से इस्‍तीफा दे दिया है। इस इस्‍तीफे के साथ ही कर्नाटक में सियासी संकट और गहरा गया है। उन्‍होंने कहा कि इस इस्‍तीफे के साथ ही मैंने एचडी कुमारस्‍वामी (HD Kumaraswamy) की सरकार से समर्थन वापस ले लिया है। यदि भाजपा को सरकार बनाने का न्‍यौता मिलता है तो मैं उसे समर्थन दूंगा। 

11.30 AM: भाजपा सांसद (Renukacharya) ने कहा कि कांग्रेस ने कुछ विधायकों के इस्‍तीफे फाड़ दिए हैं। इस घटना से राज्‍यपाल के विशेषाधिकार पर सवाल खड़े हो रहे हैं। कांग्रेस नेता भ्रम में हैं, वह नहीं समझ पा रहे हैं कि कुछ भी कर लें वे इस स्थिति को संभाल नहीं सकते हैं।

11.15AM:  कांग्रेस सांसद डीके सुरेश ने कहा कि इस सियासी संकट के पीछे भाजपा के नेताओं का हाथ है। भाजपा के लोग नहीं चाहते हैं कि देश या राज्‍य में किसी भी विपक्षी पार्टी का शासन हो। भाजपा के नेता लोकतंत्र को बर्बाद कर रहे हैं। उन्‍होंने यह भी कहा कि कांग्रेस के सभी मंत्री इस्‍तीफा देने जा रहे हैं। 

10.25 AM: कर्नाटक कांग्रेस विधानमंडल दल के नेता सिद्धारमैया (Siddharamaiah) और मंत्री यूटी खादेर (UT Khader), शिवशंकर रेड्डी (Shivashankara Reddy), वेंकटरमनप्पा (Venkataramanappa), जयमाला (Jayamala), एमबी पाटिल (MB Patil), कृष्णा बेरे गौड़ा (Krishna Byre Gowda), राजशेखर पाटिल (Rajshekar Patil) और डीके शिवकुमार (DK Shivakumar) ब्रेक फास्‍ट बैठक के लिए बेंगलुरू में जी परमेश्‍वर के आवास पर पहुंचे। 

10.15 AM: कर्नाटक के उपमुख्‍यमंत्री जी. परमेश्‍वर (G Parameshwara) ने कहा कि मैंने कांग्रेस के सभी मंत्रियों की बैठक बुलाई है, जिसमें मौजूदा सियासी संकट के मुद्दे पर बातचीत होगी। हम जानते हैं कि इन घटनाओं के पीछे भाजपा का हाथ है। यदि जरूरत हुई तो हममें से सभी लोग इस्‍तीफा दे सकते हैं।

यह भी पढ़ें: Karnataka Crisis: सियासी उठा पटक जारी, 10 प्वाइंटस में समझे दिन भर की कहानी

Highlights-

इस्‍तीफे स्‍वीकार किए तो गिर जाएगी सरकार
राज्य की 224 सदस्यीय विधानसभा में सत्तारूढ़ गठबंधन के अब 117 विधायक हैं, जिनमें स्पीकर के अलावा कांग्रेस के 78 विधायक, जदएस के 37 विधायक, बसपा का एक विधायक और एक निर्दलीय विधायक शामिल है। अगर विधायकों के इस्तीफे स्वीकार कर लिए जाते हैं तो मुख्यमंत्री एच डी कुमारस्वामी की 13 माह पुरानी गठबंधन सरकार बहुमत खो देगी। स्पीकर रमेश कुमार ने शनिवार को कहा, ‘सरकार गिर जाएगी या बरकरार रहेगी, इस बारे में विधानसभा में फैसला होगा।’ विधानसभा का सत्र 12 जुलाई से शुरू हो रहा है।

Posted By: Krishna Bihari Singh

अब खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस, डाउनलोड करें जागरण एप