मोदी सरकार - 2.0 के 100 दिन

बेंगलुरु (एएनआइ)। केरल के अलावा कर्नाटक में भी बारिश और बाढ़ से हालात बेहद खराब हो रखे हैं। सेना और एनडीआरएफ की टीमों ने रेस्क्यू ऑपरेशन का मोर्चा संभाल रखा है। दक्षिण कन्नड़, उडुपी, चिकमंगलूर, कोडगू, हासन के कुछ इलाके और उत्तर कन्नड़ पिछले कुछ दिनों से लगातार बारिश की चपेट में हैं। इस बीच राज्य के मुख्यमंत्री कुमारस्वामी स्थिति पर लगातार नजर बनाए हुए हैं।

हम नॉन स्टॉप काम कर रहे हैं : कुमारस्वामी
कर्नाटक में भारी बारिश के बाद आई बाढ़ की स्थिति को लेकर मुख्यमंत्री कुमारस्वामी ने कहा, 'बचाव अभियान में एनडीआरएफ, नौसेना, सेना, फायर बिग्रेड, होमगार्ड सहित 1000 से अधिक सुरक्षाकर्मी शामिल हैं। वायु सेना भी फंसे लोगों को बाहर निकाल रही है और राहत सामग्री पहुंचा रही है। एनसीसी के 200 कैडेट भी काम कर रहे हैं। हम नॉन स्टॉप काम कर रहे हैं।'

11,000 से ज्यादा घर क्षतिग्रस्त
मुख्यमंत्री एच. डी. कुमारस्वामी ने बताया, '11,000 से ज्यादा घर क्षतिग्रस्त हुए हैं। कोडागू में 6 लोगों की मौत हुई है। बैंकों को एटीएम में स्टॉक बढ़ाने के लिए कहा गया है। अधिकारियों को सड़कों की एक सूची देने का निर्देश दिया गया है, जो बारिश व बाढ़ के कारण क्षतिग्रस्त हो गईं हैं और मरम्मत कार्य शुरू करने को कहा गया है। अन्य क्षेत्रों के कई अधिकारियों को कोडगू में स्थानांतरित कर दिया गया है।' बता दें कि कर्नाटक का कोडागू जिला बाढ़ से सबसे ज्यादा प्रभावित है।  


बाढ़ से सबसे ज्यादा प्रभावित कोडगू
उधर, गुरुवार को कलबुर्गी जिले में बारिश के कारण एक मकान के गिर जाने से तीन लोगों की मौत हो गई जबकि एक अन्‍य घायल हो गया। वहीं, बारिश से प्रभावित कोडगू जिले में बाढ़ और भूस्खलन से तीन लोगों की जान चली गई। इस वीडियो में देखिए कैसे कोडगु इलाके में बाढ़ में फंसे लोगों को रेस्क्यू कर पुलिस और एनडीआरएफ की संयुक्त टीम ने सुरक्षित बाहर निकाला। 

यातायात सेवाएं प्रभावित
भारी बारिश को देखते हुए एतिहातन कर्नाटक राज्‍य सड़क परिवहन निगम ने राज्‍य के चामराजनगर जिले से तमिलनाडु के ऊटी और केरल के कोच्चि के लिए बस सेवाओं को बंद कर दिया है। इसी बीच कर्नाटक और केरल के बीच करीब 17 ट्रेनों को भी रद कर दिया गया है। इसके अलावा आठ ट्रेनों को आंशिक रूप से रद किया गया, जबकि दो ट्रेनों का भारी बारिश की वजह से रूट डायवर्ट करना पड़ा है।

200 करोड़ रुपये की सहायता राशि
बारिश और बाढ़ से बेहाल कर्नाटक के हाल को देखते हुए मुख्यमंत्री कुमारस्वामी ने गुरुवार को राहत कार्य के लिए प्रभावित जिलों को 200 करोड़ रुपये की सहायता राशि देने की घोषणा की। मुख्यमंत्री लगातार उन इलाकों के संपर्क में हैं, जहां राहत-बचाव कार्य चल रहा है।

मौसम विभाग की चेतावनी
मौसम विभाग ने भी एडवाइजरी जारी कर राज्य में ‘भारी बारिश’ का अनुमान जताया और कहा कि राज्य के तटीय और दक्षिणी आंतरिक क्षेत्र पर दक्षिण पश्चिम मानसून के कठोर होने से बारिश होगी।

666 लोगों को NDRF ने किया रेस्क्यू
तटीय कर्नाटक और राज्‍य के अन्‍य इलाकों में भारी बारिश के बाद 18 राहत शिविर बनाए गए हैं। जानकारी के मुताबिक, करीब 666 लोगों को एनडीआरएफ के जवानों ने रेस्‍क्‍यू किया है। इस बीच राज्‍य सरकार ने निचले इलाकों में रह रहे लोगों को राहत शिविरों में भेज दिया है। बताया जा रहा है कि एनडीआरएफ की अतिरिक्‍त टीमें और फायर फोर्स को कोडागू, दक्षिण कन्‍नड़, उडूपी और उत्‍तर कन्‍नड़ में तैनात कर दिया गया है। सरकारी अनुमान के मुताबिक बारिश की वजह से अब तक 712 घरों को नुकसान पहुंचा है, जबकि कई रास्तों और सड़के क्षतिग्रस्त हो गई है।

हेल्पलाइन नंबर जारी

कर्नाटक में बाढ़ की स्थिति को देखते हुए जारी किए गए हेल्पलाइन नंबरः DC Kodagu: +91-9482628409 CEO ZP Kodagu: +91-9480869000. Helicopter helpline: Alpy +91-8281292702,Chandru - +919663725200,Dhanjay- +91 9449731238,Mahesh - +91 9480731020 Army: +91-9446568222

 

Posted By: Nancy Bajpai

अब खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस, डाउनलोड करें जागरण एप