बेंगलुरु, पीटीआइ। मुख्यमंत्री बी एस येदियुरप्पा ने रविवार को एक सर्वदलीय बैठक बुलाई और विपक्षी नेताओं को राज्य में कोरोना वायरस को रोकने के लिए सरकार द्वारा उठाए गए कदमों से अवगत कराया। मुख्यमंत्री ने विधान सभा में बैठक में कहा, 'मैं 13 मार्च से नियमित रूप से Covid-19 के प्रसारण को नियंत्रित करने के लिए बैठकें कर रहा हूं।' स्वास्थ्य मंत्री बी श्रीरामुलु, चिकित्सा शिक्षा मंत्री डॉ के सुधाकर, आईटी-बीटी मंत्री सीएन अश्वथ नारायण, उपमुख्यमंत्री लक्ष्मण सावदी, पूर्व मुख्यमंत्री और विपक्ष के नेता सिद्धारमैया, विपक्षी विधायक एचडी रेवन्ना, डीके शिवकुमार और पूर्व स्पीकर केआर रमेश कुमार ने बैठक में भाग लिया।

मुख्यमंत्री ने कहा कि सरकार के आदेशों की देखरेख के लिए मंत्रियों और अधिकारियों के साथ एक टास्क फोर्स का गठन किया गया है। मुख्यमंत्री ने विपक्ष को राज्य भर में क्लीनिकों की संख्या, डॉक्टरों की उपलब्धता और राज्य में डॉक्टरों और संगरोध कमरों के लिए सुरक्षा गियर के बारे में भी बताया। येदियुरप्पा ने दुनिया भर में मौजूदा स्थिति पर प्रकाश डालते हुए कहा कि सामान्य जीवन हर जगह खतरे में है।

बता दें कि कर्नाटक में अब तक 81 मामले दर्ज किए गए हैं। जहां 5 लोग ठीक हो गए हैं और वहीं राज्य में 3 लोगों की मौत हो चुकी है। बात अगर भारत की करें तो देश में कुल मामलों की संख्या 1050 तक पहुंच गई है। इनमें 86 लोग ठीक होकर हर जो चुके हैं, वहीं 27 लोगों की अब तक जान चली गई है।

इस वायरस से पहली मौत कर्नाटक के कुलबर्गी में हुई थी हालांकि इस वायरस का पहले तीन मामले केरल में सबसे पहले आए थे। इस महामारी का अभी कोई इलाज नहीं मिल पाया है, जिसके चलते प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने भारत में 21 दिनों के लॉकडाउन की घोषण की। यही नहीं लोगों से अपील की वह घर से बाहर ना निकले।

21 दिनों के लॉकडाउन से पहले पीएम मोदी द्वारा जनता कर्फ्यू की अपील की गई थी। इसके बाद ही लॉकडाउन की घोषणा की। आज रविवार को मन की बात कार्यक्रम में भी प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने लोगों से सोशल डिस्टेंसिंग मैंटन करने की बात कही साथ ही घर पर ही रहने की अपील की। ताकी अन्य लोगों को इस वायरस से बचाया जा सके।

Posted By: Nitin Arora

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस