नई दिल्ली, एएनआइ। लंदन में आयोजित EVM हैकिंग आयोजन में अपनी उपस्थिति पर कांग्रेस के वरिष्ठ नेता और पूर्व केंद्रीय मंत्री कपिल सिब्बल की सफाई दी है। मीडिया से बातचीत के दौरान उन्होंने बताया कि, 'मैं वहां निजी काम से गया था जहां से मुझे अचानक बुलाया गया तो चला गया, मुझे कार्यक्रम के आयोजक इंडियन जर्नलिस्ट असोसिएशन लंदन के अध्यक्ष आशीष रे का मेल आया था। आशीष ने मुझे बताया कि यहां पर बीजेपी और चुनाव आयोग सहित सभी राजनीतिक दलों को निमंत्रण भेजा गया है। मैं आशीष को जानता हूं। इसलिए वहां पहुंचा।'

साथ ही कपिल सिब्बल ने यह भी कहा कि, EVM को लेकर जो भी आरोप लगाए जा रहे उनकी जांच की जानी चाहिए क्योंकि ये मुद्दे लोकतंत्र के मुद्दे हैं जो कि देश और जनता से जुड़े हुए हैं। EVM का मुद्दा देश के भविष्य से संबंधित है। यह मुद्दा सिर्फ एक दल का नहीं है। 

इसके पहले लंदन में EVM हैकिंग के बारे में प्रेस कांफ्रेस करने वाले शुजा ने बताया कि उसने ECIL में काम किया था, जबकि सूत्रों की माने तो ECIL ने कहा कि शुजा ने यहां पर कभी काम नहीं किया है। 

भाजपा ने कपिल सिब्बल की मौजूदगी पर उठाए सवाल
इसके पहले हैकथॉन में कांग्रेस नेता कपिल सिब्बल की मौजूदगी को लेकर सवाल खड़ा हो गया है। केंद्रीय मंत्री मुख्तार अब्बास नकवी ने इसे राजनीति से प्रेरित करार देते हुए कहा कि भारतीय लोकतांत्रिक व्यवस्था को बदनाम करने के लिए राहुल गांधी और सोनिया गांधी ने उन्हें वहां भेजा है। मुख्तार अब्बास नकवी ने हैकर के दावे के बाद कहा कि ईवीएम को लेकर कांग्रेस दुष्प्रचार कर रही है। हार पर हैकिंग को लेकर हॉरर शो बनाया जा रहा है। कांग्रेस के कुछ नेता तो मोदी को सत्ता से हटाने के लिए पाकिस्तान तक से मदद मांगने पहुंच जाते हैं। उन्होंने कपिल सिब्बल की मौजूदगी को लेकर भी सवाल खड़े किए। भाजपा नेता ने कहा कि देश की लोकतांत्रिक व्यवस्था को बदनाम करने के लिए राहुल गांधी और सोनिया गांधी ने सिब्बल को वहां भेजा है।

सिब्बल की मौजूदगी पर कांग्रेस ने दी सफाई
वहीं कांग्रेस ने सफाई दी कि इस कार्यक्रम में कांग्रेस की कोई भागीदारी नहीं है। न ही इससे कोई सरोकार है। कपिल सिब्बल साफ कर चुके हैं कि वे निजी निमंत्रण पर वहां गए हैं। कांग्रेस प्रवक्ता अभिषषेक मनु सिंघवी ने कहा कि कांग्रेस इस दावे का न तो समर्थन करती है और न ही खंडन। कांग्रेस ने इस पूरे मामले की जांच की मांग की है। वहीं इलेक्शन कमीशन ऑफ इंडिया ने कहा कि भारत में इस्तेमाल की जाने वाली मशीन पूरी तरह सेफ हैं।

Posted By: Ravindra Pratap Sing

अब खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस, डाउनलोड करें जागरण एप