नई दिल्‍ली, एएनआइ। कर्नाटक में अयोग्‍य विधायकों के मामले की सुनवाई करने वाले जजों की बेंच से एक जज जस्‍टिस मोहन शांतनागौदर ने खुद को मामले से अलग कर लिया है। मामले की अगली सुनवाई सोमवार, 23 सितंबर को की जाएगी।

कर्नाटक के 17 अयोग्‍य विधायकों ने विधानसभा के तत्‍कालीन अध्‍यक्ष के आदेश के खिलाफ कोर्ट में याचिका दाखिल किया था। 

जानें पूरा मामला 

तत्कालीन मुख्यमंत्री एचडी कुमारस्वामी के विश्वास प्रस्ताव पर 29 जुलाई को मतदान से पहले विधानसभा अध्यक्ष ने 17 बागी विधायकों को अयोग्य ठहरा दिया था। सदन में शक्ति परीक्षण में सफल नहीं होने के कारण कुमारस्वामी ने अपने पद से इस्तीफा दे दिया था और इसके बाद राज्य में बीएस येद्दियुरप्पा के नेतृत्व में भाजपा की सरकार बनी।

कांग्रेस के दो बागी विधायक रमेश एल जारखिहोली और महेश कुमाथल्ली और एक निर्दलीय नेता आर शंकर को 25 जुलाई को अयोग्य ठहराया गया था। इन विधायकों ने 29 जुलाई को शीर्ष कोर्ट में चुनौती दी। तत्कालीन विधानसभा अध्यक्ष रमेश कुमार ने अन्य 14 बागी विधायकों को 28 जुलाई को अयोग्य ठहराया।

यह भी पढ़ें: सुप्रीम कोर्ट ने ठुकराई कर्नाटक के 17 अयोग्य विधायकों की याचिका, आदेश देने से किया इंकार

यह भी पढ़ें: सुप्रीम कोर्ट से झटके के बाद कर्नाटक के अयोग्य विधायकों ने की बैठक

Posted By: Monika Minal

अब खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस, डाउनलोड करें जागरण एप