श्रीनगर (राज्य ब्यूरो)। जम्मू-कश्मीर के दो प्रमुख राजनीतिक दल नेशनल कांफ्रेंस और पीपुल्स डेमोक्रेटिक पार्टी के स्थानीय निकाय और पंचायत चुनाव बहिष्कार के एलान के बावजूद राज्य प्रशासन इसे पूर्व निर्धारित कार्यक्रम के अनुसार कराने को प्रतिबद्ध है। मुख्य सचिव बीबीआर सुब्रह्मण्यम ने सोमवार को साफ कहा कि यह चुनाव आम लोगों के लिए हैं और समय पर ही होंगे। फिलहाल, इन्हें स्थगित किए जाने की कोई योजना नहीं है। एक सप्ताह के भीतर अधिसूचना जारी करने के साथ अन्य प्रकिया पूरी कर ली जाएगी।

प्रशासन ने निकाय चुनाव एक अक्टूबर से पांच अक्टूबर व पंचायत चुनाव आठ नवंबर से चार दिसंबर के बीच करवाने का फैसला किया है। नेशनल कांफ्रेंस और पीपुल्स डेमोक्रेटिक पार्टी ने राज्य के मौजूदा सुरक्षा परिदृश्य और अनुच्छेद 35ए के संरक्षण की मांग को लेकर इन चुनावों के बहिष्कार का एलान किया है।

सोमवार को दक्षिण कश्मीर के कुलगाम में आयोजित एक जनता दरबार के बाद पत्रकारों से बातचीत में मुख्य सचिव ने कहा कि पंचायत व स्थानीय निकाय चुनाव एक सुरक्षित और विश्वासपूर्ण माहौल में कराने के लिए सभी आवश्यक कदम उठाए जा रहे हैं। लोग निष्पक्ष रूप से मतदान करें इसे यकीनी बनाया गया है। उन्होंने कहा कि पंचायत और स्थानीय निकाय चुनाव कराने का फैसला जुलाई माह में लिया गया था। मतदाता सूचियों का प्रारूप तैयार हो चुका है, मतदाता सूचियों को अंतिम रूप दिया गया है। मुख्य निर्वाचन अधिकारी को स्थानीय निकाय चुनावों की अधिसूचना जारी करनी है और वह जल्द ही इसे जारी कर सकते हैं। पंचायत चुनाव पांच नंवबर के आसपास शुरू होंगे और उनके लिए भी मुख्य निर्वाचन अधिकारी को ही अधिसूचना जारी करनी है। एक सप्ताह के भीतर आप यह सभी प्रक्रियाएं पूरी होते देखेंगे।