गुवाहाटी, एएनआइ। असम के मुख्यमंत्री सर्बानंद सोनोवाल ने बुधवार को कहा कि नए नागरिकता कानून के कारण किसी भी कीमत पर असम के लोगों के हित के साथ कोई समझौता नहीं होगा। सोनोवाल ने मीडिया से बातचीत के दौरान कहा कि राज्य में नागरिकता कानून को लागू करने को लेकर सरकार ने केंद्र सरकार को सुझाव दिया है, ताकि असम के लोगों का हित सुरक्षित रहे। 

सोनोवाल ने इस दौरान कहा, 'मैं अपने राज्य के लोगों से मुझ पर भरोसा करने की अपील करना चाहूंगा।' मैं आपका बेटा हूं और हम आपके आशीर्वाद के कारण सत्ता में हैं। हम,  2016 से इस सरकार को चला रहे हैं। इस दौरान हमने लोगों के हित के साथ कभी समझौता नहीं किया। कृपया मुझे अपने से अलग न करें।आप ऐसा करते हैं तो मैं कहां जाऊंगा। प्रतीक्षा करें सभी झूठे अभियान बंद हो जाएंगे।'

असमाजिक तत्वों की वजह से हिंसा और आगजनी का सामना करना पड़ा

राज्य के लोगों के लिए एक भावनात्मक अपील करते हुए, सोनोवाल ने कहा कि सीएए पर कुछ असमाजिक तत्वों द्वारा गलत बयानबाजी की गई, जिससे असम को हिंसा और आगजनी का सामना करना पड़ा। उन्होंने कहा कि समय के साथ राज्य के लोगों के लिए उनकी प्रतिबद्धता साबित होगा।

सीएए से असम के लोग प्रभावित नहीं होंगे- सोनोवाल का आश्वासन

सीएए से असम के लोग प्रभावित नहीं होंगे इसका आश्वासन देते हुए सोनोवाल ने कहा 'मेरी सरकार असम के लोगों के खिलाफ जाने के लिए कोई कदम नहीं उठाएगी। अगर मैं हितों की रक्षा नहीं कर सकता तो मुख्यमंत्री होने का कोई मतलब नहीं है। असम असमिया लोगों के लिए था और हमेशा रहेगा। हमारी भाषा, संस्कृति और अस्तित्व के लिए कोई खतरा नहीं है।'

सीएए के बारे में कई झूठ फैलाया जा रहा

सोनोवाल ने कहा, 'सीएए के बारे में कई झूठ फैलाए जा रहे हैं। अफवाहें हैं कि विदेशी लोगों को यहां के लोगों की भूमि में बसने की अनुमति दी जाएगी, जिससे आम लोगों में डर पैदा हो गया है। कांग्रेस और वामपंथी दल आग में घी डालकर इन अफवाहों में इजाफा कर रहे हैं।'

यह भी पढ़ें: रंगोली बनाकर CAA का विरोध प्रदर्शन करने वाली महिला का निकला पाकिस्‍तान कनेक्‍शन, पुलिस कर रही जांच

 

Posted By: Tanisk

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस