नई दिल्ली, आइएएनएस। आपको जानकर थोड़ा आश्चर्य तो हो सकता है, लेकिन यह सच है कि राज्यसभा के पास उसके नामित सदस्यों की संपत्ति का ब्योरा उपलब्ध नहीं है। इनमें वरिष्ठ भाजपा नेता सुब्रमण्यम स्वामी, पत्रकार स्वप्न दासगुप्ता, पांच बार की बॉक्सिंग चैंपियन एमसी मैरीकॉम, रूपा गांगुली, सोनल मानसिंह, रघुनाथ मोहपात्रा, रामसकल, राकेश सिन्हा व सुरेश गोपी शामिल हैं।

उच्च सदन ने 25 मई को सूचना का अधिकार (आरटीआइ) कानून के अंतर्गत मांगी गई जानकारी के जवाब में ये बातें कही हैं। राज्यसभा ने जवाब में कहा कि चूंकि सभी सदस्य राष्ट्रपति की तरफ से नामित किए गए हैं, इसलिए उसके पास उनकी संपत्ति का ब्योरा उपलब्ध नहीं है। उसने कहा, 'राज्यसभा सदस्य (संपत्ति व देनदारी की घोषणा) नियम-2004 के नियम-3 के तहत केवल निर्वाचित सदस्य के लिए ही उनकी, उनकी पत्‍‌नी और उन पर निर्भर संतानों की संपत्ति और देनदारी का ब्योरा देना अनिवार्य है।'

दासगुप्ता पद्म पुरस्कार से सम्मानित पत्रकार हैं तो गोपी मलयाली फिल्मों के मशहूर एक्शन हीरो हैं। गांगुली अभिनेत्री हैं और मानसिंह मशहूर नृत्यांगना। मोहपात्रा पुरातत्वविद, सिन्हा लेखक व रामसकल वरिष्ठ नेता हैं। इन सभी की नियुक्ति तत्कालीन राष्ट्रपति प्रणब मुखर्जी ने राजग सरकार की सिफारिश पर की थी।

19 जून को होंगे राज्यसभा के चुनाव

बता दें कि निर्वाचन आयोग ने राज्यसभा की 24 सीटों के लिए 19 जून को मतदान कराने का फैसला किया है। इन 24 में 18 सीटों का चुनाव कोरोना महामारी के कारण टाल दिया गया था। इनमें से चार-चार सीटें आंध्र प्रदेश और गुजरात से, तीन-तीन मध्य प्रदेश और राजस्थान से, दो झारखंड से और एक-एक मणिपुर और मेघालय से हैं। सोमवार को आयोग ने अरुणाचल प्रदेश, कर्नाटक और मिजोरम की छह सीटों पर भी इन सीटों के साथ ही चुनाव कराने का फैसला किया। इनमें कर्नाटक के चार राज्यसभा सदस्य 25 जून को रिटायर हो रहे हैं, जबकि अरुणाचल प्रदेश के एक सदस्य का कार्यकाल 23 जून को पूरा होगा। मिजोरम से एक राज्यसभा सदस्य 18 जुलाई को सेवानिवृत्त होंगे। इन छह सीटों के लिए अधिसूचना मंगलवार को जारी होगी।

Posted By: Dhyanendra Singh

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस