नई दिल्ली, आइएएनएस। 10 दिन पहले जब संयुक्त राष्ट्र मानवाधिकार परिषद (UNHRC) में पाकिस्तान ने जम्मू-कश्मीर के मुद्दे पर हंगामा किया, तो भारत ने इसे मंच का दुरुपयोग करार दिया और वैश्विक संस्था को इस तरह के प्रयासों के खिलाफ चौकसी करने के लिए आगाह किया। अब पाकिस्तान एकबार फिर कश्मीर के मुद्दे को उठाने की तैयारी में है।

पाकिस्तान अब संयुक्त राष्ट्र महासभा (UNGA) के मंच का फिर से दुरुपयोग करने के लिए तैयार है, जहां पाकिस्तानी प्रधानमंत्री इमरान खान कश्मीर का मुद्दा एकबार फिर उठाने जा रहे हैं।पाकिस्तान ने शुक्रवार को इस बात की पुष्टि  कर दी कि पाकिस्तानी प्रधानमंत्री इमरान खान 27 सितंबर को संयुक्त राष्ट्र महासभा(UNGA) में अपने संबोधन में कश्मीर का मुद्दा उठाएंगे। इससे पहले इस बात को लेकर अटकलें लगाई जा रही थीं। लेकिन पाकिस्तान ने शुक्रवार को इस बात की आधिकारिक जानकारी दी है।

पाकिस्तान उठाएगा कश्मीर का मुद्दा

पाकिस्तानी विदेश मंत्रालय ने यहां एक बयान में कहा, 'UNGA के अपने संबोधन में इमरान खान कश्मीर विवाद और वहां वर्तमान मानवाधिकार उल्लंघन पर पाकिस्तान का दृष्टिकोण बताएंगे।' पाकिस्तान ने कहा कि कुल मिलाकर वो कश्मीर के मुद्दे पर ही UNGA में जोर देने वाला है। इमरान खान ने पहले ही घोषणा कर दी है कि वह 27 सितंबर को संयुक्त राष्ट्र महासभा(UNGA) में कश्मीर मुद्दे पर प्रकाश डालेंगे।

बता दें, भारत और पाकिस्तान के बीच 5 अगस्त को जम्मू कश्मीर से आर्टिकल 370 हटाए जाने के बाद से ही तनाव बढ़ गया है। भारत और पाकिस्तान की ओर से इसको लेकर रस्साकशी देखी जा रही है। ऐसे में 27 सितंबर को भारत और पाकिस्तान के प्रधानमंत्री जब UNGA की बैठक में आमने-सामने होंगे तो तनाव और बढ़ने वाला है।

मोदी के बाद इमरान से मिलेंगे ट्रंप

अमेरिकी राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप ह्यूस्टन में रविवार को पीएम मोदी के साथ 'हाउदी मोदी' कार्यक्रम में शामिल होने के एक दिन बाद सोमवार को पाकिस्तान के प्रधानमंत्री इमरान खान से मुलाकात करेंगे। इसके अगले दिन मंगलवार को पीएम मोदी के साथ बैठक करेंगे। दोनों नेताओं के साथ ट्रंप की यह मुलाकात न्यूयॉर्क में संयुक्त राष्ट्र महासभा (UNGA) के 74 वें सत्र के इतर होगी। इसकी जानकारी व्हाइट हाउस के वरिष्ठ अधिकारी ने दी है।

अमेरिकी यात्रा पर निकले मोदी

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने शुक्रवार को हफ्ते भर की यात्र पर अमेरिका रवाना होने से पहले विश्वास व्यक्त किया कि उनके दौरे से भारत और अमेरिका के संबंधों में और प्रगाढ़ता आएगी। उनका यह दौरा भारत के लिए कई अहम अवसरों के दरवाजे खोलेगा और उसकी एक वैश्विक नेता की छवि बनेगी।

प्रधानमंत्री मोदी 21 से 27 सितंबर तक अमेरिका के दौरे पर रहेंगे, जहां वह संयुक्त राष्ट्र महासभा के 74वें सत्र को संबोधित करने के साथ ही अन्य कई बहुपक्षीय और द्विपक्षीय मुद्दों से जुड़े कार्यक्रमों में भाग लेंगे। प्रधानमंत्री ने रवाना होने से पहले जारी अपने बयान में कहा है कि भारत और अमेरिका एक साथ काम कर विश्व को और अधिक शांतिपूर्ण, स्थिर, सुरक्षित, सतत और समृद्ध बनाने में अहम योगदान दे सकते हैं।

प्रदर्शन की फिराक में पाक पोषित समूह

एएनआइ की एक रिपोर्ट के मुताबिक एक ओर जहां ह्यूस्टन में नरेंद्र मोदी के मेगा शो के लिए तैयारियां चरम पर हैं। वहीं दूसरी ओर पाकिस्तान पोषित समूह शहर में भारत विरोधी प्रदर्शन की फिराक में जुट गए हैं। बताया गया कि पीएम मोदी व इस कार्यक्रम में भाग ले रहे अमेरिकी राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप के खिलाफ प्रदर्शन के लिए ह्यूस्टन की मस्जिदों व इस्लामिक सेंटर से लोगों को भड़काया जा रहा है।

इसे भी पढ़ें: UNHRC में भारत को बड़ी सफलता, कश्‍मीर पर पाकिस्‍तान को नहीं मिला अन्‍य देशों का समर्थन

Posted By: Shashank Pandey

अब खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस, डाउनलोड करें जागरण एप