नई दिल्ली, प्रेट्र। अपने सहयोग को और मजबूत बनाने के लिए भारत और मालदीव के विदेश मंत्री शुक्रवार को नई दिल्ली में वार्ता करेंगे। दोनों देशों के संयुक्त आयोग की यह बैठक चार साल बाद होगी। इससे पहले दोनों देशों के संयुक्त आयोग की पांच बार बैठकें हो चुकी हैं।

विदेश मंत्रालय के प्रवक्ता रवीश कुमार ने बताया कि विदेश मंत्री एस जयशंकर और मालदीव के उनके समकक्ष अब्दुल्ला शाहिद के बीच कई क्षेत्रों में सहयोग पर विस्तृत वार्ता होगी।

31 सदस्यों को प्रतिनिधिमंडल भी आया

शाहिद चार दिन की यात्रा पर मंगलवार को भारत आ चुके हैं। उनके साथ 31 सदस्यों का प्रतिनिधिमंडल भी आया है, जिसमें कई विभागों के वरिष्ठ अधिकारी हैं। बुधवार को विदेश मंत्री शाहिद की भारतीय विदेश सचिव विजय गोखले से द्विपक्षीय संबंधों पर महत्वपूर्ण वार्ता हुई।

प्रवक्ता ने कहा, दोनों देशों के बीच संयुक्त आयोग की वार्ता और आपसी संबंधों की गर्मजोशी बताती है कि हमारे बीच सहयोग का दायरा बढ़ रहा है। पिछले ही सप्ताह प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने कहा था कि भारत का खास दोस्त और समुद्री इलाके का दोस्त मालदीव के विकास के लिए भारत वचनबद्ध है।

पीएम मोदी ने परियोजनाओं का किया था उद्घाटन

बता दें कि अभी हाल ही में भारत-मालदीव की दोस्ती को बढ़ावा देते हुए पीएम मोदी ने वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग के जरिए दोनों देशों की प्रमुख विकास परियोजनाओं का उद्घाटन किया था। कई तरह के सेक्टर को कवर करने वाली प्रमुख विकास परियोजनाओं के संयुक्त उद्घाटन में पीएम मोदी ने कहा था कि मेरी सरकार की नेबरहुड फर्स्ट और मालदीव सरकार की इंडिया फर्स्ट नीतियों ने सभी क्षेत्रों में हमारे द्विपक्षीय सहयोग को मजबूत किया है।

Posted By: Dhyanendra Singh

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस