नई दिल्ली, एजेंसी। कर्नाटक के मुख्यमंत्री एचडी कुमारस्वामी ने बालाकोट एयरस्ट्राइक को लेकर भाजपा सरकार पर निशाना साधते हुए कहा कि पीएम मोदी बालाकोट एयरस्ट्राइक के बारे में बात कर सकते हैं, लेकिन इसके लिए अपना कार्यालय का दुरुपयोग करना गलत है। कई पीएम ने इस देश पर शासन किया, कई बार भारत-पाकिस्तान युद्ध हुआ। किसी ने व्यक्तिगत लाभ के लिए उस मुद्दे का फायदा नहीं उठाया।

 

एचडी कुमारस्वामी ने पीएम मोदी पर चुनावी भाषणों में बालाकोट एयरस्ट्राइक पर कहा कि वह लोगों को गुमराह कर रहे है कि वह पाकिस्तान सीमा पर गए और उन्होंने बम गिराए। स्वामी ने आगे कहा कि जब मेरे पिता एचडी देवेगौड़ा 1995 में 10 महीने के लिए पीएम थे, तब क्या इस देश में कोई आतंकवादी गतिविधि हुई थी? क्या भारत-पाकिस्तान सीमा पर कोई आतंकवादी गतिविधि हुई? संपूर्ण देश उस समय शांति में था।  स्वामी ने आगे कहा कि भारत-पाकिस्तान के बीच कोई झड़प नहीं हुई, यहां तक ​​कि देश के अंदर भी बम हमला नहीं हुआ, कुछ नहीं हुआ।

उन्होंने एचडी देवेगौड़ा का जिक्र करते हुए कहा कि वह एक अच्छे प्रशासक और अनुभवी हैं। उन्हें अपने राजनीतिक जीवन में अनुभव है। वह मेरे हिसाब से हर किसी से बेहतर है। लेकिन अब उनकी इन सबमें दिलचस्पी नहीं है। उन्होंने पहले ही राहुल गांधी के नाम पर (पीएम के लिए) मुहर लगा दी थी। वह राहुल जी को अच्छी प्रशंसा के लिए सलाह देने जा रहे हैं।

एचडी देवगौड़ा के राजनीति में वापसी करने को लेकर बोले-

जब उनसे सवाल किया गया कि क्या वह 2019 चुनावों के बाद एचडी देवेगौड़ा के लिए राष्ट्रीय भूमिका देखते हैं तो उन्होंने कहा कि ये बिल्कुल संभव है, क्योंकि अगले चुनाव में भाजपा सरकार नहीं होगी। हम कई क्षेत्रीय दलों के साथ सरकार बना सकते हैं। उस समय देवेगौड़ा हर किसी के सलाहकार के रूप में प्रमुख भूमिका निभा सकते हैं

पीएम मोदी को लेकर की टिप्पणी पर कही ये बात
पीएम मोदी को लेकर दिए अपने बयान पर सफाई देते हुए उन्होंने कहा कि मैंने ऐसा क्यों बोला की पीएम मोदी मैक-अप और वैक्स लगाते है ,क्योंकि भाजपा के लोग हमेशा कहते हैं कि कृप्या पीएम मोदी का चहरा देखिए और हमारे लिए वोट करिए। 

राहुल के साथ गठबंधन पर कही ये बात
कुमारस्वामी ने कर्नाटक में सीएम बनने पर कहा कि मैं शुरुआत में क्यों रोया? क्योंकि मैं बहुत भावुक आदमी हूं, संवेदनशील आदमी हूं। मैं हमेशा लोगों के मूड को देखता हूं। जब मैंने सरकार का गठन किया, तो उन्होंने इस प्रणाली को स्वीकार नहीं किया था, इसके लिए मैं थोड़ा परेशान था। उस कारण मैं शुरुआत में रोया ,लेकिन अब लोगों को वास्तव में विश्वास हो रहा है कि कुमारस्वामी ने इस सरकार को बनाने के लिए कांग्रेस के साथ हाथ मिलाकर अच्छा काम किया है। वह कर्नाटक राज्य के विकास के लिए तत्पर हैं। यही अब लोगों की भावना है।

Posted By: Ayushi Tyagi