अहमदाबाद, राज्य ब्यूरो। गुजरात कांग्रेस अपने जंबो संगठन व निष्कि्रय नेताओं को हटाकर 80 सक्रिय सदस्यों को प्रदेश संगठन में शामिल करेगी। अध्यक्ष पद पर अमित चावडा बने रहेंगे और युवा नेता हार्दिक पटेल को कांग्रेस बड़ी जिम्मेदारी दी जा सकती है।

भाजपा के पाटीदार वोट बैंक में सेंध लगाने के लिए कांग्रेस हार्दिक का कार्ड खेल सकती है ताकि 2022 के विधानसभा चुनाव तक मजबूत युवा टीम तैयार की जा सके। नए संगठन में निष्कि्रय नेताओं को दरकिनार कर 80 सक्रिय सदस्यों का ही संगठन बनाया जाएगा। छह सीटों पर कराए गए उपचुनाव में चावडा के नेतृत्व में तीन सीट जीतने के बाद पार्टी में उत्साह दिखाई दे रहा है।

शनिवार को कांग्रेस के 135वें स्थापना दिवस पर पार्टी के प्रदेश प्रभारी राजीव सातव, अध्यक्ष अमित चावडा ने नेता विपक्ष परेश धनाणी, आइटी सेल के राष्ट्रीय संयोजक रोहन गुप्ता, पूर्व अध्यक्ष सिद्धार्थ पटेल व सैकड़ों कार्यकर्ताओं के साथ गांधी आश्रम पर ध्वज लहराया और उसके बाद संविधान बचाओ, देश बचाओं के नारे लगाते हुए वहां से कूच किया।

सातव ने भाजपा पर किसान, युवा व महिलाओं की उपेक्षा का आरोप लगाते हुए कहा कि सरकार के 25 साल के कार्यकाल में 11 बार प्रतियोगिता परीक्षाएं रद करनी पड़ी। देश को आज भी मध्य प्रदेश का व्यापम घोटाला याद है। महिला सुरक्षा व किसानों को आर्थिक रूप से समृद्ध करने में भी भाजपा पूरी तरह विफल रही है। कांग्रेस ने मध्य प्रदेश, राजस्थान, छत्तीसगढ़ के बाद अब महाराष्ट्र में भी किसानों के कर्ज माफ करने का वादा निभाया लेकिन गुजरात में भाजपा किसानों को राहत नहीं देना चाहती।

Posted By: Manish Pandey

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस