नई दिल्ली, एजेंसी। केंद्रीय विज्ञान एवं प्रौद्योगिकी मंत्री हर्षवर्धन (Dr. Harshvardhan) ने शनिवार को घोषणा की कि दिवाली के लिए ग्रीन पटाखे (पर्यावरण अनुकूल) अब बाजार में उपलब्ध होंगे। इनसे 30 प्रतिशत तक कम प्रदूषषण होता है और ये सस्ते भी हैं।

यह कदम इसलिए उठाया गया है ताकि पर्यावरण को नुकसान पहुंचाए बगैर लोगों की भावनाओं का ध्यान रखा जा सके। इन पटाखों को बनाने वाली 'वैज्ञानिक एवं औद्योगिक अनुसंधान परिषषद' (CSIR) के कार्यक्रम में हर्षवर्धन ने कहा, 'हमने अपने वैज्ञानिकों से प्रदूषषण फैलाने वाले पटाखों का विकल्प तैयार करने की अपील की थी ताकि पर्यावरण को नुकसान पहुंचाए बगैर लोगों की भावनाओं का ध्यान रखा जा सके।'

सस्ती कीमत पर उपलब्ध होंगे ग्रीन पटाखे

उन्होंने कहा कि इससे पटाखा उद्योग को भी मदद मिलेगी। सीएसआईआर-नीरी की पर्यावरण सामग्री शाखा की प्रमुख और मुख्य वैज्ञानिक साधना रायालु ने कहा, 'ग्रीन पटाखे सस्ती कीमत पर उपलब्ध होंगे। इनकी कीमत वर्तमान पटाखों से ज्यादा नहीं होगी। इनके रसायनों के संयोजन में बदलाव किया गया है जिससे उनकी कीमत घट गई है।' हालांकि उन्होंने इन पटाखों की वास्तविक कीमत नहीं बताई।

सुप्रीम कोर्ट ने पटाखों के उत्पादन पर लगाया था प्रतिबंध

मालूम हो कि पिछले साल दिवाली से ठीक पहले सुप्रीम कोर्ट ने प्रदूषण फैलाने वाले पटाखों के उत्पादन पर प्रतिबंध लगा दिया था। शीषर्ष अदालत का कहना था कि देश में प्रदूषण स्तर पर नियंत्रण के लिए सिर्फ कम प्रदूषषण वाले ग्रीन पटाखे बेचने की ही अनुमति होगी।

सुप्रीम कोर्ट ने यह आदेश तब पारित किया था जब केंद्र सरकार ने सुझाव दिया था कि पटाखों के रसायन संयोजन में बदलाव करके प्रदूषषण स्तर में कमी लाई जा सकती है। लेकिन उस समय पटाखा निर्माताओं और विक्रताओं को यह बात समझ में नहीं आई थी और बमुश्किल ही बाजार में ग्रीन पटाखे उपलब्ध थे। 

यह भी पढ़ें: Ayodhya Case: खुदाई में मिला गोलाकार पूजास्थल और भी बहुत कुछ, मुस्लिम पक्षकार बेवजह मामले को बना रहे पेचीदा

यह भी पढ़ें: Terror Funding Case: अलगाववादी नेता शब्बीर शाह के परिवार को 10 दिन में मकान खाली करने का नोटिस

Posted By: Dhyanendra Singh

अब खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस, डाउनलोड करें जागरण एप