नई दिल्ली, प्रेट्र। भारत ने UNGA कश्मीर मुद्दे पर तुर्की और मलेशिया के बयान की कड़ी निंदा की है। विदेश मंत्रालय के प्रवक्ता रवीश कुमार ने एक संवाददाता सम्‍मेलन को संबोधित करते हुए तुर्की के राष्ट्रपति रेसेप तईप एर्दोगन और मलेशियाई पीएम महातिर मोहम्मद द्वारा कश्मीर पर दिए गए बयानों को खारिज किया। 

अनुच्छेद 370 हटाने का फैसला देश का आंतरिक मामला

रवीश कुमार ने शुक्रवार को कहा कि भारत के हाल ही में जम्मू और कश्मीर से अनुच्छेद 370 हटाने का फैसला देश का आंतरिक मामला है। उन्होंने तुर्की का आह्वान करते हुए कहा कि आगे से इस मुद्दे पर कुछ बोलने से पहले कश्मीर के हालात को लेकर उसे अपनी समझ बढ़ानी होगी। भारत के लिए यह पूरी तरह से आंतरिक मामला है। उन्होंने कहा कि मलेशिया को भी कुछ कहने से पहले मित्रतापूर्ण रिश्तों को ध्यान में रखना चाहिए और ऐसी बयानबाजी से बचना चाहिए।

इमरान का उत्तेजक और गैरजिम्मेदाराना बयान

पाकिस्‍तान के पीएम इमरान खान (Imran Khan)ने लोगों को एलओसी (Loc)की ओर मार्च करने पर रवीश कुमार ने कहा कि इमरान खान ने UNGA में भी उत्तेजक और गैरजिम्मेदाराना बयानों का इस्तेमाल किया। मुझे लगता है कि वह नहीं जानते हैं कि अंतरराष्ट्रीय संबंधों का संचालन कैसे किया जाए। सबसे गंभीर बात यह है कि उन्होंने भारत के खिलाफ जेहाद का खुला आह्वान किया जो सामान्य बात नहीं है।

उल्लेखनीय है कि हाल ही में संयुक्त राष्ट्र में पाकिस्तान के सुर में सुर मिलाते हुए तुर्की और मलेशिया ने कश्मीर मुद्दे पर अपना विरोध दर्ज कराया था। तब तुर्की के राष्ट्रपति रेसेप तैयप एर्दोगन और मलेशिया के प्रधानमंत्री महातिर मुहम्मद ने न्यूयार्क में संयुक्त राष्ट्र महासभा में कश्मीर का मुद्दा उठाया था।

 

इंडियन टी20 लीग

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस