तिरुअनंतपुरम, एजेंसियां। एक विदेशी राजनयिक के नाम पर सोना तस्करी मामले में केरल की वाम सरकार के खिलाफ विपक्ष के तेवर लगातार तल्ख होते जा रहे हैं। इस मामले में मुख्यमंत्री कार्यालय की भूमिका संदिग्ध होने का आरोप लगाते हुए विपक्ष जहां सीएम पिनराई विजयन से इस्तीफे की मांग कर रहा है, वहीं कांग्रेस की नेतृत्व वाली यूनाइटेड डेमोक्रेटिक फ्रंट (यूडीएफ) ने सरकार के खिलाफ अविश्वास प्रस्ताव लाने का फैसला किया है।

गठबंधन संयोजक बेनी बेहनन के अनुसार, 'यूडीएफ की बैठक में राज्य सरकार और विधानसभा अध्यक्ष पी. श्रीरामकृष्णन के खिलाफ अविश्वास प्रस्ताव लाने का फैसला किया गया। इस मामले में आगे की कार्रवाई के लिए विपक्ष के नेता रमेश चेन्निथला को अधिकृत किया गया है। हम सीएम के इस्तीफे की मांग को लेकर प्रदर्शन जारी रखेंगे। आरोपितों को बचाने का उनका प्रयास अब प्रमाणित हो चुका है।

मुख्यमंत्री एवं आइटी विभाग के सचिव का एक आरोपित के साथ संबंध साफ हो चुका है। अधिकारी को लंबी छुट्टी पर भेजना कोई कार्रवाई नहीं है।' उन्होंने कहा कि 24 जुलाई को गठबंधन के विधायकों व सांसदों के नेतृत्व में क्षेत्रीय स्तर पर प्रदर्शन का आयोजन किया जाएगा। इसमें तिरुअनंतपुरम, एर्नाकुलम, कोझिकोड व कन्नूर शामिल होंगे। दो अगस्त को मुख्यमंत्री के इस्तीफे की मांग को लेकर वर्चुअल रैली का भी आयोजन किया जाएगा।

उधर, एनआइए ने इस केस में आरोपित स्वप्ना सुरेश और संदीप नायर को बेंगलुरु से गिरफ्तार कर लिया है। एनआइए अदालत ने आरोपी स्वप्ना सुरेश और संदीप नायर को 14 दिन की न्यायिक हिरासत में जेल भेज चुकी है। वहीं कोच्चि में सीमा शुल्क अधिकारियों ने फोन कॉल के जरिए मामले में तीसरे आरोपी फाजिल फरीद का बयान दर्ज कर लिया है। फाजिल फिलहाल दुबई में है। वह त्रिशूर जिले के कोडुंगलूर मूननुपेदिका का रहने वाला है। 

इंडियन टी20 लीग

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस