रांची, राज्‍य ब्‍यूरो। केंद्रीय मंत्री गिरिराज सिंह ने नागरिकता कानून संशोधन विधेयक, एनपीआर और एनआरसी पर बड़ा बयान दिया है। उन्‍होंने कहा कि घुसपैठियों को भारत में रहने का कोई अधिकार नहीं है। भले ही इंदिरा गांधी ने कठमुल्‍लों के आगे घुटने टेक दिए, लेकिन प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी नहीं झुकने वाले। अपने एक दिवसीय प्रवास पर रांची पहुंचे गिरिराज ने कांग्रेस को निशाने पर लेते हुए कहा कि सन् 1971 में बांग्‍लादेश बनने के दौरान तत्‍कालीन प्रधानमंत्री इंदिरा गांधी ने कहा था कि भारत की आबादी विस्‍फोटक है। हम किसी कीमत पर दूसरों को अपने देश में जगह नहीं दे सकते। जबकि अब राहुल गांधी इन बांगलादेशी घुसपैठियों के हमदर्द बने फिर रहे हैं। वे लोगों में नफरत फैला रहे हैं। अगर राहुल गांधी को इन घुसपैठियों को बाहर करने से इतनी ही तकलीफ हो रही है तो उन्‍हें इटली ले जाकर इटालियन नागरिकता दिला दें।

मुसलमानों को भड़का रहे राहुल और टुकड़े-टुकड़े गैंग

गिरिराज सिंह ने कांग्रेस के पूर्व अध्यक्ष राहुल गांधी पर मुसलमानों को भड़काने को लेकर तीखा हमला बोला। उन्होंने कहा कि एक बार पहले ही राहुल गांधी सुप्रीम कोर्ट में राफेल मामले में माफी मांग चुके हैं। अब फिर से वे झूठ बोलकर लोगों को बहकाने में लगे हैं। अब उन्हें जनता से इस मामले में माफी मांगनी होगी। कांग्रेस ने लोकसभा में जवाब दिया था कि देश में तीन जगह डिटेंशन सेंटर हैं। कांग्रेस मुगलों और अंग्रेजों की तरह काम कर रही है। केंद्रीय मंत्री ने कहा कि कोई भी प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की सरकार पर किसी के साथ भेदभाव करने का आरोप नहीं लगा सकता। कोई माई का लाल कह दे कि हमने उज्ज्वला और शौचालय आवंटन में हिंदू-मुसलमान किया। हमने डीबीटी से बांटे गए नौ लाख करोड़ रुपये में भी कोई भेदभाव नहीं किया। किसी से धर्म पूछकर कोई काम नहीं किया।

हमने जो कदम उठाया उस पर खड़े और अड़े हैं

गिरिराज सिंह ने कहा कि मोदी सरकार ने नागरिकता संशोधन कानून बहुत सोच विचार कर लाया है। यह कानून चुपके से नहीं, बल्कि संसद से पास कराकर बना है। हम इससे एक कदम पीछे नहीं हटने वाले। पाकिस्तान अब लियाकत पैक्ट से भाग रहा है। पाकिस्तान में केवल 40 मंदिर बचे हैं। वहां हिंदुओं को यातनाएं दी जा रही हैं। गिरिराज ने आगे कहा कि एनपीआर देश में पहली बार नहीं हुआ है। गिरिराज ने कहा कि डंके की चोट पर कहता हूं कि भारत के मुसलमानों को नागरिकता कानून से कोई तकलीफ नहीं होगी। मोदी राज में किसी के साथ भेदभाव नहीं हुआ और न होगा।

मैं आरएसएस का हूं, खरा बोलता हूं

केंद्रीय मंत्री ने राष्ट्रीय स्वयं सेवक का जिक्र करते हुए कहा कि मैं आरएसएस का हूं, जो बोलता हूं, खरा बोलता हूं।  70 साल से जिन हिंदू-सिख-जैन और ईसाइयों को पाकिस्तान में यातनाएं दी गई हैं, उनके लिए मोदी सरकार गंभीर प्रयास कर रही है तो टुकड़े-टुकड़े गैंग को इससे तकलीफ हो रही है। देश के मुसलमानों को इससे कोई परेशानी नहीं हो रही। उन्होंने कहा कि 1971 में इंदिरा गांधी ने कहा था कि हमारी आबादी विस्फोटक है। हम दूसरों के लिए जगह नहीं दे सकते लेकिन इंदिरा गांधी ने कठमुल्लों के आगे घुटने टेक दिए। हमने जो कदम उठाया है, उसपर खड़े हैं और अड़े हैं।

मुसलमान ओवैसी के बहकावे में न आएं

गिरिराज सिंह ने कहा कि मुसलमानों के पैरोकार बने ओवैसी उन्हें दिन-रात भड़काने में लगे हैं। मैं मुसलमानों से कहता हूं कि यहां के मुसलमानों को नागरिकता भी मिलेगी और घर भी मिलेगा। मुसलमान ओवैसी के बहकावे में ना आएं। गिरिराज ने आगे कहा कि ओवैसी का भाई 15 मिनट में हिंदुओं के सफाये की बात करता है और ओवैसी कानून की बात कर रहे हैं। मैं उन्हें बता देना चाहता हूं कि भारत घुसपैठियों का धर्मशाला नहीं है। हम और घुसपैठियों का भार नहीं झेल सकते। गिरिराज सिंह ने कहा कि इंदिरा गांधी ने घुसपैठियों को रोकने के लिए कोई कनून नहीं बनाया, सिर्फ बातें की। कठमुल्लों के आगे घुटने टेक दिए। मैं झारखंड के लोगों से पूछना चाहता हूं कि क्या घुसपैठियों को भारत में रहने का अधिकार है। अगर है तो राहुल गांधी उन्हें इटली ले जाकर इटली की नागरिकता दिला दें। गिरिराज ने भाजपा को अपदस्‍थ कर झारखंड में सरकार बनाने जा रहे महागठबंधन को लेकर कहा कि जो जनादेश मिला है, उसके लिए नई सरकार को ढेरों शुभकामनाएं।

राहुल ले जाएं कुछ लोगों को इटली और नागरिकता दिला दें

केंद्रीय मंत्री गिरिराज सिंह ने नागरिकता संशोधन कानून और एनआरसी पर कांग्रेस को खरी-खरी सुनाई है। झारखंड में विभागीय समीक्षा बैठक के बाद प्रदेश भाजपा कार्यालय में पत्रकारों से बात करते हुए गिरिराज ने कहा कि कुछ लोग इस भ्रम में हैं कि भारत घुसपैठियों के लिए धर्मशाला है, लेकिन ऐसा है नहीं। देश में इसके लिए मोदी सरकार ने कानून बना दिया है। पाकिस्तान में लोगों के कार्ड बनते हैं, बांग्लादेश में रजिस्ट्रेशन होता है, लेकिन यही यहां पर हो तो बातें हो रही हैं। यह राहुल गांधी, ओवैसी और टुकड़े-टुकड़े गैंग को पसंद नहीं आ रहा है। घुसपैठियों के लिए देश में जगह नहीं है, लेकिन राहुल गांधी अगर चाहें तो कुछ लोगों को ले जाकर इटली की नागरिकता दिला लें। गिरिराज ने मुसलमानों से अपील की कि वे ओवैसी के बहकावे में नहीं आएं।

भारत धर्मशाला नहीं जो हर किसी को आश्रय मिल जाए

शनिवार को भाजपा प्रदेश कार्यालय में पत्रकारों से बात करते हुए गिरिराज सिंह ने कहा कि पूर्व प्रधानमंत्री इंदिरा गांधी ने स्वयं स्वीकारा था कि देश में घुसपैठ बड़ी समस्या है, लेकिन इसे रोकने के लिए कुछ नहीं किया। उन्होंने कठमुल्लों के आगे घुटने टेक दिए। पाकिस्तान बनने के बाद 70 वर्षों में हिंदुओं, सिख, जैन, बौद्ध और ईसाइयों पर लगातार हमले हुए, लेकिन कांग्रेस शासन ने कुछ नहीं किया और स्थिति यह है कि पाकिस्तान में हिंदू एक फीसद ही रह गए हैं। नए कानून से टुकड़े-टुकड़े गैंग को तकलीफ हो रही है, देश के मुसलमानों को नहीं।

उन्होंने मुस्लिमों से प्रश्न किया, उज्ज्वला योजना, शौचालय आवंटन और डीबीटी से भुगतान में जब किसी से भेदभाव नहीं किया गया तो आगे भी ऐसा नहीं होगा। देश में नौ लाख करोड़ रुपये का वितरण बिना भेदभाव के हुआ, लेकिन अब राहुल गांधी और ओवैसी भ्रम फैला रहे हैं। ये वही ओवैसी हैं, जिनके भाई ने 15 मिनट में भारत से ङ्क्षहदुओं को खत्म करने की बात कही थी और अब यही भ्रम फैला रहे हैं। उन्होंने कहा कि राहुल गांधी कहते हैं कि मोदी देश के नहीं आरएसएस के प्रधानमंत्री हैं, और ऐसा है तो मैं कहता हूं कि मुझे आरएसएस का सदस्य होने का गर्व है।

Posted By: Sujeet Kumar Suman

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस