नई दिल्ली,एएनआइ। उत्तर प्रदेश और हरियाणा के पूर्व विधायक रहे करतार सिंह भड़ाना ने बसपा का हाथ छोड़ भारतीय जनता पार्टी का दामन शाम लिया है। शुक्रवार को भाजपा पार्टी के महासचिव अरुण सिंह ने  मुख्यालय में उन्हें पार्टी की सदस्यता दिलाई। 2019 की शुरुआत में उन्होंने बसपा ज्वाइन की थी।   

इस साल ही थामा था बहुजन समाज पार्टी का दामन 

इसी साल लोकसभा चुनाव से पहले अप्रैल में वह बहुजन समाज पार्टी में शामिल हुए थे। बसपा ने उन्हें मध्य प्रदेश की श्योपुर मुरैना सीट से अपना उम्मीदवार बनाया था। वह उत्तर प्रदेश और हरियाणा दोनों ही राज्यों में विधायक रह चुके हैं। उत्तर प्रदेश में 2012 विधानसभा चुनाव के दौरान करतार सिंह भड़ाना चौधरी अजित सिंह की पार्टी रालोद राष्ट्रीय लोकदल से मुजफ्फरनगर के खतौली क्षेत्र के विधायक चुने गए। इसके बाद राज्य में 2017 में हुआ विधानसभा चुनाव के दौरान पार्टी ने उन्हें बागपत सीट से चुनावी मैदान में उतारा था। हालांकि, उस चुनाव में वह जीत हासिल नहीं कर पाए थे। इसके बाद वह बसपा में शामिल हो गए। बता दें कि उन्होंने सपा के टिकट से भी चुनाव लड़ा है। 

लगातार दो बार हरियाणा से भी रहे विधायक 

1996 और 2000 में लगातार दो बार वह हरियाणा से विधायक रह चुके हैं। वह हरियाणा के समालखा विधानसभा क्षेत्र से विधायक रहे थे। दरअसल, 1996 में करतार सिंह विकास पार्टी के टिकट पर चुनाव लड़ा।  वहीं 2000 में इंडियन  नेशनल लोकदल के टिकट पर चुनावी मैदान में थे इस दौरान उन्होंने जीत दर्ज की थी। जानकारी के लिए बता दें कि करतार सिंह हरियाणा सरकार में सहकारिता मंत्री भी रहे थे। दरअसल, करतार सिंह भड़ाना हरियाणा सरकार में मंत्री रहे और चार बार सांसद रहे अवतार सिंह के भाई है। 

जानकारी के लिए बता दें कि हरियाणा में 21 अक्टूबर को विधानसभा के लिए मतदान किया जाना है। चुनावी परिणाम 24 अक्टूबर को घोषित किए जाएंगे। 

Posted By: Ayushi Tyagi

अब खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस, डाउनलोड करें जागरण एप