भोपाल, [राज्य ब्यूरो]। पहले चरण के नगरीय निकाय चुनाव के लिए बुधवार को मतदान होगा। इस चरण में कांग्रेस के कई विधायकों व प्रदेश कांग्रेस अध्यक्ष कमल नाथ की प्रतिष्ठा भी दांव पर है। दरअसल, पार्टी ने विधायकों की सहमति के आधार पर टिकट वितरण किया है, इसलिए जीत-हार पर उनकी जिम्मेदारी स्पष्ट है। छिंदवाड़ा कमल नाथ का विधानसभा क्षेत्र है और उनके पुत्र नकुल नाथ यहां से सांसद हैं। वहीं, इंदौर से विधायक संजय शुक्ला, उज्जैन से महेश परमार और सतना से सिद्धार्थ कुशवाहा महापौर का चुनाव लड़ रहे हैं।

बड़े शहरों की बात करें तो भोपाल नगर निगम में कांग्रेस के तीन विधायक (पीसी शर्मा, आरिफ अकील और आरिफ मसूद) के क्षेत्र आते हैं। स्वास्थ्य कारणों से आरिफ अकील ज्यादा सक्रिय नहीं रहे पर प्रचार थमने के एक दिन पहले वे महापौर प्रत्याशी और पाषर्षदों के पक्ष में आयोजित सभा में शामिल हुए। इंदौर जिले में कांग्रेस के तीन विधायक (संजय शुक्ला, विशाल पटेल और जीतू पटवारी) हैं। इनमें संजय शुक्ला चुनाव लड़ रहे हैं। विशाल पटेल का क्षेत्र देपालपुर और जीतू पटवारी का क्षेत्र राऊ नगर परिषषद में आता है। जबलपुर जिले में कांग्रेस के चार विधायक (तरण भनोत, लखन घनघोरिया, विनय सक्सेना और संजय यादव) हैं।

इनमें संजय यादव का क्षेत्र बरगी ग्रामीण क्षेत्र है। उज्जैन जिले में पार्टी के चार विधायक (दिलीप सिंह गुर्जर, महेश परमार, रामलाल मालवीय और मुरली मोरवाल) हैं। इनमें तराना से विधायक महेश परमार महापौर पद का चुनाव ल़़ड रहे हैं। सतना जिले में कांग्रेस दो विधायक (नीलांशु चतुर्वेदी और सिद्धार्थ कुशवाहा) हैं। इनमें से सिद्घार्थ महापौर का चुनाव लड़ रहे हैं। ग्वालियर जिले में कांग्रेस के तीन (सतीश सिकरवार, प्रवीण पाठक और लाखन सिंह यादव) विधायक हैं। सतीश की पत्नी शोभा सिकरवार को कांग्रेस ने महापौर प्रत्याशी बनाया है। कमल नाथ ने सभी विधायकों को चुनाव की जिम्मेदारी सौंपी है और परिणाम के आधार पर रिपोर्ट कार्ड भी तैयार होगा।

Edited By: Ashisha Rajput