नई दिल्ली, एजेंसी। वित्त मंत्री अरुण जेटली ने शनिवार को नई दिल्ली में 'मन की बात- ए सोशल रिवोल्यूशन ऑन रेडियो' नाम के पुस्तक का विमोचन किया। यह किताब पीएम मोदी के 'मन की बात' रेडियो कार्यक्रम के 50 एपिसोड पर आधारित है। यह इस किताब का दूसरा संस्करण है।

इस दौरान उन्होंने कहा कि टीवी न्यूज चैनल का काम है सरकार के एजेंडे को रिपोर्ट करना, लेकिन अब वे ऐसा न करके खुद एजेंडा सेट करते हैं। ऐसा रेड़ियो के जमाने में नहीं था। उन्होंने कहा 'मुझे अच्छी तरह से याद है कि टीवी न्यूज चैनल आने के बाद भी पूर्व प्रधानमंत्री अटल बिहारी वाजपेयी जी रेडियो पर ही समाचार सुनते थे। हर वक्त उनके साथ एक छोटा सा ट्रांजिस्टर रहता था। वे इसे घर पर भी रखते थे।'

इस कार्यक्रम का आयोजन प्रसार भारती और ऑल इंडिया रेडियो ने किया था। इस दौरान जेटली ने कहा कि न्यूज चैनल द्वारा रिपोर्ट करने के बजाए एजेंडा सेट करने की परेशानी सिर्फ हमारे देश में ही नहीं है। दुनिया के कई देश इस समस्या से जूझ रहे हैं।

बता दें कि 'मन की बात' में प्रधानमंत्री ने समकालीन और प्रासंगिक मुद्दों पर बातचीत कर लोगों तक पहुंचने की कोशिश की। इससे पहले पीएम मोदी ने पिछले माह रविवार 24 फरवरी को 53वीं बार देशवासियों को संबोधित किया था। इस दौरान उन्होंने कहा था कि वे फिर से मई माह में बातचीत का सिलसिला शुरू करेंगे और सालों तक यह सिलसिला जारी रहेगा। उन्होंने कहा, 'अगले मन की बात मई माह के आखिरी रविवार को होगी। चुनाव लोकतंत्र का सबसे अहम हिस्सा है, अगले दो महीने हम सभी व्यस्त रहेंगे, मैं स्वयं भी प्रत्याशी रहूंगा।'

Posted By: Tanisk

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस