मुंबई, एएनआइ। शिवसेना कार्यकर्ताओं द्वारा पूर्व नौसेना अधिकारी की पिटाई पर पूर्व मुख्यमंत्री देवेंद्र फड़नवीस ने एक बार फिर महाराष्ट्र सरकार को कठघरे में खड़ा किया। उन्होंने कहा कि यह बहुत ही गलत और स्टेट स्पॉन्सर्ड टेरर वाली स्थिति है। मैं अपने ट्वीट से उद्धव ठाकरे का ध्यान गुंडाराज की ओर खींचा है। इसके साथ ही उन्होंने कहा कि इस मामले में 10 मिनट में 6 आरोपियों को छोड़ दिया गया है।

मुंबई पश्चिमी उपनगर कांदीवली में शिवसैनिकों ने शुक्रवार को पूर्व नौ सेना अधिकारी मदन शर्मा पर आधा दर्जन से अधिक शिवसैनिकों ने जानलेवा हमला कर दिया था। इस मामले में मुंबई पुलिस ने शिवसेना नेता कमलेश कदम समेत छह लोगों को गिरफ्तार किया था, लेकिन उन्हें शनिवार सुबह समता नगर पुलिस स्टेशन ने ही जमानत दे दी। पूर्व नौसेना अधिकारी ने सीएम उद्धव ठाकरे से संबंधित एक कार्टून को व्हाट्सएप पर फारवर्ड किया था, इसी के चलते शिवसैनिकों ने उनकी जमकर पिटाई की थी। 

पूर्व नौसेना अधिकारी मदन शर्मा की पिटाई के बाद राजनीतिक दलों की प्रतिक्रिया आनी शुरू हो गई थी। वहीं, अब सोशल मीडिया में भी लोग उद्धव ठाकरे सरकार के खिलाफ एक अभियान छेड़े हुए हैं। 

पूर्व नौसेना अधिकारी की बेटी शीला शर्मा ने मुंबई में हुए पिता पर हमले को लेकर प्रतिक्रिया दी थी। उन्होंने साफ कहा था कि यहां मानवता खत्म हो चुकी है और राष्ट्रपति शासन लगाए जाने की जुरूरत है। उन्होंने पिता से की गई मारपीट और कैसे शिवसेना के कार्यकर्ताओं ने झूठ बोलकर उन्हें बुलाया, इसको लेकर सारी सच्चाई बताई है। वहीं, बुजुर्ग पूर्व नौसेना अधिकारी ने भी सरकार से कुछ मांग की है। 

बता दें कि मुंबई में नौसेना के पूर्व अधिकारी पर हमला मामले में पुलिस ने 6 लोगों को गिरफ्तार किया था। पहले समता नगर पुलिस ने शिवसेना के दो कार्यकर्ताओं को गिरफ्तार किया था। गिरफ्तार लोगों में एक शिवसेना का शाखा प्रमुख कमलेश कदम भी था। कमलेश कदम के अलावा शिवसेना के दूसरे का कार्यकर्ता का नाम है संजय मांजरे है।

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस