नई दिल्‍ली, एएनआइ। करतारपुर कॉरिडोर के शिलान्यास के मौके पर पाकिस्तानी प्रधानमंत्री इमरान खान द्वारा कश्मीर का मुद्दा उठाने पर भारतीय विदेश मंत्रालय ने कड़ी प्रतिक्रिया दी है।

विदेश मंत्रालय ने कहा कि यह दुर्भाग्‍यपूर्ण है कि पाकिस्तान के प्रधानमंत्री ने जम्मू-कश्मीर के अनचाहे संदर्भ बनाकर करतारपुर कॉरिडोर विकसित करने के लिए सिख समुदाय की काफी समय से लंबित मांग को पूरा करने के लिए इस पवित्र अवसर को राजनीति करने के लिए चुना, जो भारत का अभिन्न और अविभाज्य हिस्सा है। विदेश मंत्रालय ने कहा कि कि पाकिस्तान को अपने अंतरराष्ट्रीय दायित्वों को निभाते हुए उसकी जमीन से नियंत्रित होने वाले क्रॉस बॉर्डर आतंकवाद को रोकना चाहिए और इस दिशा में सख्त एक्शन लेना चाहिए।

विदेश मंत्रालय ने कहा कि करतारपुर कॉरिडोर के इस पवित्र मौके पर पाकिस्तान के पीएम का कश्मीर मामले को उछालना गैर-जरूरी है। मंत्रालय ने स्पष्ट कहा कि कश्मीर भारत का अभिन्न अंग है और इस मौके पर उसका जिक्र करना खेदजनक है।
 करतारपुर कॉरिडोर के शिलान्यास के मौके पर पाकिस्तानी प्रधानमंत्री इमरान खान ने कहा था कि दोनों देशों के बीच प्रमुख मुद्दा कश्‍मीर है। इस मुद्दे को सुलझाने के लिए दो समर्थवान लीडरशिप की जरूरत है। ऐसा होने पर दोनों देशों के बीच संबंध काफी मजबूत होंगे।  

शॉर्ट मे जानें सभी बड़ी खबरें और पायें ई-पेपर,ऑडियो न्यूज़,और अन्य सर्विस, डाउनलोड जागरण ऐप

budget2021