नई दिल्‍ली, एएनआइ। राहुल गांधी (Rahul Gandhi) के रेप इन इंडिया वाले बयान पर निर्वाचन आयोग (Election Commission of India) ने संज्ञान लिया है। आयोग ने केंद्रीय मंत्री स्‍मृति इरानी (Union Minister Smriti Irani) की शिकायत पर झारखंड के मुख्‍य निर्वाचन अधिकारी से रिपोर्ट तलब की है। राहुल के इस बयान पर संसद में भी जमकर हंगामा हुआ था और महिला सांसदों ने राहुल से मांफी मांगने की मांग की थी। 

रिपोर्टों के मुताबिक, झारखंड के मुख्य निर्वाचन पदाधिकारी कार्यालय की ओर से जल्द ही इस बारे में रिपोर्ट चुनाव आयोग को सौंप दी जाएगी। केंद्रीय मंत्री स्मृति इरानी समेत कई भाजपा सांसदों ने बयान पर कड़ा विरोध जताते हुए राहुल गांधी के खिलाफ चुनाव आयोग में शिकायत दर्ज कराकर उनके खिलाफ सख्‍त कार्रवाई की मांग की थी। 

स्मृति इरानी ने बयान पर आपत्ति जताते हुए लोकसभा में कहा था कि कांग्रेस का एक नेता सार्वजनिक तौर पर यह कहता है कि हिंदुस्तान की महिलाओं का दुष्‍कर्म होना चाहिए। अध्‍यक्ष जी, ऐसा देश के इतिहास में पहली बार हुआ है, जब कांग्रेस पार्टी के नेता दुष्‍कर्म जैसे संगीन जुर्म को राजनीतिक उपहास का हिस्सा बना रहे हैं। यह पहली बार हुआ है, जब गांधी परिवार का बेटा यह कहता है कि आओ हिंदुस्तान में दुष्‍कर्म करो। माननीय अध्‍यक्ष महोदय, राहुल गांधी कोई सामान्‍य व्‍यक्ति नहीं इस सदन के नेता हैं। क्या वह यह कहना चाहते हैं कि हिंदुस्तान का हर पुरुष दुष्‍कर्म करना चाहता है..?

बता दें कि झारखंड में 12 दिसंबर को राहुल गांधी ने गोड्डा के महगामा और साहेबगंज में चुनावी जनसभाओं को संबोधित किया था। आरोप है कि इस दौरान उन्होंने मोदी सरकार पर हमला बोलते हुए कथित तौर पर कहा था कि पीएम मेक इन इंडिया की बात करते हैं लेकिन देश में जहां देखो वहां मेक इन इंडिया नहीं बल्कि रेप इन इंडिया दिखाई देता है। राहुल के बयान को लेकर भाजपा की महिला सांसदों ने गहरी नाराजगी जताई थी। 

Posted By: Krishna Bihari Singh

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस