नई दिल्ली, आइएएनएस। कर्नाटक के पूर्व मंत्री और कांग्रेस नेता डीके शिवकुमार की मुश्किलें और बढ़ गई हैं। प्रवर्तन निदेशालय (ईडी) ने उनके खिलाफ मनी लांड्रिंग के मामले में उनकी बेटी एश्वर्य को भी पूछताछ के लिए समन किया है।

ईडी के एक वरिष्ठ अधिकारी ने बताया कि एश्वर्य को 12 सितंबर को पूछताछ के लिए बुलाया गया है। उन्होंने कहा कि शिवकुमार के वित्तीय लेनदेन की जांच के दौरान एजेंसी को एक ट्रस्ट से जुड़े कागजात मिले थे। यह ट्रस्ट उनकी बेटी एश्वर्य चलाती है। ट्रस्ट की कार्यप्रणाली और उसके वित्तीय लेन-देन का विवरण जानने के लिए ही एश्वर्य को पूछताछ के लिए बुलाया गया है।

मालूम हो कि इस मामले में दो दिन तक पूछताछ करने के बाद ईडी ने शिवकुमार को तीन सितंबर को गिरफ्तार किया था। एक दिन बाद दिल्ली की अदालत ने शिवकुमार को 10 दिन के लिए ईडी की हिरासत में भेज दिया था। वरिष्ठ अधिकारी ने बताया कि अगर जरूरत पड़ी तो जांच एजेंसी ट्रस्ट से जुड़े वित्तीय लेनदेन के दस्तावेजों के साथ एश्वर्य और शिवकुमार का आमना-सामना भी कराएगी।

बता दें कि 2016 में नोटबंदी के बाद से ही शिवकुमार आयकर विभाग और ईडी की रडार पर थे। दो अगस्त, 2017 को नई दिल्ली स्थित उनके फ्लैट की आयकर विभाग द्वारा ली गई तलाशी में 8.59 करोड़ रुपये की अघोषित नकदी जब्त की गई थी।

इसके बाद आयकर विभाग ने उनके और उनके चार सहयोगियों के खिलाफ आयकर अधिनियम, 1961 की धारा 277 व 278 और भारतीय दंड संहिता की धारा 120(बी), 193 और 199 के तहत मामला दर्ज किया था। एएनआइ के मुताबिक, इसी केस के आधार पर ईडी ने पिछले साल सितंबर में उनके खिलाफ मनी लांड्रिंग का मामला दर्ज किया था।

Posted By: Nitin Arora

अब खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस, डाउनलोड करें जागरण एप