राज्य ब्यूरो, जम्मू। गुलाम कश्मीर में आतंकी ठिकानों पर भारतीय सेना की बड़ी कार्रवाई के अगले दिन सोमवार को जम्मू कश्मीर दौरे पर पहुंचे रक्षा मंत्री राजनाथ सिंह ने पाकिस्तान को कड़ी चेतावनी दी है। राजनाथ ने कहा कि अगर पाकिस्तान ने आतंक को शह देना बंद नहीं किया तो उसे गंभीर परिणाम भुगतने होंगे। राजनाथ सिंह को शनिवार रात और रविवार को पीओके स्थित आतंकी ठिकानों पर भारतीय सेना की कार्रवाई की विस्तृत रिपोर्ट दी गई। चिनार कोर्प्स के कमांडिंग ऑफिसर ले. जनरल केजेएस ढिल्लन और सेनाप्रमुख जनरल बिपिन रावत मौजूद रहे।

लेह पहुंचे राजनाथ सिंह ने चीन से लगती वास्तविक नियंत्रण रेखा (एलएसी) के पास श्योक नदी पर सैन्य दृष्टि से बेहद अहम 1400 फीट लंबे पुल का उद्घाटन किया। रक्षा मंत्री ने कहा कि कर्नल छिवांग रिनचिन पुल को देश को समर्पित करते हुए उन्हें बेहद खुशी हो रही है। इस पुल के बनने से क्षेत्र में हर मौसम में न सिर्फ पूरा साल सड़क संपर्क बना रहेगा अपितु सीमांत क्षेत्रों के लिए यह पुल रणनीतिक रूप से भी अतिमहत्वपूर्ण होगा। पुल का नाम लद्दाख के शेर कहे जाने वाले कर्नल छिवांग रिनचिन के नाम पर रखा गया है। कर्नल रिनचिन ने दो बार महावीर चक्र जीता है।

हमारे सैनिक गोलाबारी की शुरुआत नहीं करते

रक्षा मंत्री ने कहा कि पाकिस्तान, भारत को अस्थिर बनाने के लिए आतंकवाद को शह देने के साथ सीमा पर गोलाबारी कर रहा है। हमारे सैनिक कभी गोलाबारी की शुरुआत नहीं करते हैं। लेकिन अगर सीमा पार से यह सब नहीं रुका तो पाकिस्तान को इसका करारा जवाब दिया जाएगा।

कश्मीर आंतरिक मामला, चीन ने भी नहीं किया जिक्र

रक्षा मंत्री ने स्पष्ट किया कि कश्मीर भारत का आंतरिक मामला है। चीनी राष्ट्रपति शी चिनफिंग की प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के साथ हाल ही में हुई मुलाकात पर राजनाथ सिंह ने कहा कि चिनफिंग ने कश्मीर का जिक्र तक नहीं किया। इसके साथ आतंकवाद के खिलाफ चीन का हालिया बयान भी बहुत महत्व रखता है। उन्होंने कहा कि चीन के साथ भारत के अच्छे संबंध हैं। सीमा को लेकर दोनों देशों में मतभिन्नता है, लेकिन इस मुद्दे से बड़ी गंभीरता व जिम्मेदारी से निपटा जा रहा है।

सियाचिन पर्यटकों के लिए खुला

रक्षा मंत्री ने कहा कि लद्दाख में पर्यटन की अपार संभावनाएं हैं। क्षेत्र में पर्यटन को बढ़ावा देने की पूरी कोशिश की जा रही है। बेहतर सड़क संपर्क से लद्दाख में और अधिक पर्यटक आएंगे। अब सियाचिन क्षेत्र पर्यटकों के लिए खुला है।

सुरक्षा हालात का लिया जायजा

लद्दाख पहुंचे रक्षामंत्री के साथ पुल बनाने वाले सीमा सड़क संगठन के महानिदेशक लेफ्टिनेंट जनरल हरपाल सिंह, सेना की उत्तरी कमान और लद्दाख की सुरक्षा का जिम्मा संभालने वाली चौदह कोर के वरिष्ठ अधिकारी भी मौजूद थे। इस दौरान राजनाथ सिंह ने नियंत्रण रेखा पर पाकिस्तान की भारी गोलाबारी से उपजे हालात के साथ जम्मू कश्मीर के मौजूदा सुरक्षा परिदृश्य के बारे में भी जानकारी ली।

चार लांचिंग पैड को तबाह, 10 पाकिस्तानी सैनिकों और 25 से 35 आतंकी मारे गए

भारत ने गुलाम कश्मीर की नीलम और लीपा घाटी में आतंकियों के चार लांचिंग पैड को तबाह कर दिया। इसमें करीब 10 पाकिस्तानी सैनिकों और 25 से 35 आतंकियों के मारे जाने की सूचना है। पाकिस्‍तानी सेना की दो बटालियन पंजाब रेजिमेंट और मुजाहिद रेजिमेंट को भी भारी नुकसान पहुंचा है। भारत ने इस कार्रवाई में अपनी आर्टिलरी और मल्टी बैरल राकेट लांचर पिनाका के साथ बोफोर्स तोप का भी इस्तेमाल किया।

Posted By: Arun Kumar Singh

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस