नई दिल्ली, एजेंसियां। कांग्रेस कार्यसमिति (CWC) की बैठक में शनिवार को राहुल गांधी को फिर अध्यक्ष बनाने के मांग उठी। वरिष्ठ नेता अंबिका सोनी ने बैठक के बाद कहा कि पार्टी में सभी की राय है कि राहुल को पार्टी अध्यक्ष बनना चाहिए। समाचार एजेंसी एएनआइ से बात करते हुए उन्होंने कहा कि सभी ने एकजुट होकर उन्हें अध्यक्ष बनाने को लेकर सहमति व्यक्त की। अब यह उनके ऊपर है कि वह ऐसा करेंगे या नहीं। सभी की राय है कि राहुल गांधी को पार्टी अध्यक्ष बनना चाहिए। इस बीच राहुल गांधी का इस मुद्दे पर बयान सामने आया है।

सूत्रों के हवाले से समाचार एजेंसी एएनआइ ने जानकारी दी है कि सीडब्ल्यूसी की बैठक में वरिष्ठ नेताओं के अध्यक्ष बनने के अनुरोध पर राहुल गांधी ने कहा कि वो इसपर विचार करेंगे। उन्होंने यह भी कहा कि उन्हें पार्टी नेताओं से विचारधारा के स्तर पर स्पष्टता की जरूरत है। कुछ नेताओं ने कहा कि चुनाव तक उन्हें कार्यकारी अध्यक्ष बनाया जाए। बता दें कि 2019 के आम चुनावों में हार की जिम्मेदारी लेते हुए राहुल गांधी ने अखिल भारतीय कांग्रेस कमेटी (AICC) के अध्यक्ष पद से इस्तीफा दे दिया था। इसके बाद से सोनिया गांधी पार्टी की अंतरिम अध्यक्ष हैं।

संगठन चुनाव के कार्यक्रम को मंजूरी दिए जाने के दौरान ही राजस्थान के मुख्यमंत्री अशोक गहलोत ने राहुल गांधी से कांग्रेस अध्यक्ष का पद तत्काल संभालने के लिए कहा। पार्टी महासचिव प्रियंका गांधी वाड्रा ने भी राहुल से कहा कि संगठन चुनाव होने तक आप पार्टी के एक्शन को लीड करें। छत्तीसगढ़ के सीएम भूपेश बघेल, एके एंटनी, मीरा कुमार, अंबिका सोनी, हरीश रावत से लेकर तमाम नेताओं ने राहुल से कमान संभालने के लिए कहा।

पंजाब के मुख्यमंत्री चरणजीत सिंह चन्नी ने तो राहुल से कहा कि आप कांग्रेस की संपत्ति हैं और आप ना नहीं कह सकते। तारिक अनवर ने राहुल से कहा कि अभी इसी बैठक में मौखिक प्रस्ताव लाया जा सकता है यदि वे कमान संभालने को तैयार हैं। हामिद कर्रा ने तो इससे भी आगे निकलते हुए यहां तक कहा कि कांग्रेस का मतलब गांधी परिवार है और पार्टी में इस परिवार का नेतृत्व नहीं होगा तो देश का लोकतंत्र नहीं बचेगा। वापसी के लिए उठी आवाज पर राहुल गांधी ने कहा कि नेताओं द्वारा जाहिर की गई भावनाओं के लिए शुक्रगुजार हैं और इस बारे में विचार करेंगे।

Edited By: Tanisk