नई दिल्ली, पीटीआइ। मार्क्सवादी कम्युनिस्ट पार्टी (माकपा) के महासचिव सीताराम येचुरी ने मंगलवार को बेरोजगारी को लेकर केंद्र सरकार पर निशाना साधा। उन्होंने कहा कि प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी 'नौकरी पर चर्चा क्यों नहीं करते'? एक समाचार रिपोर्ट का हवाला देते हुए येचुरी ने कहा कि मोदी सरकार के कार्यकाल में स्वतंत्र भारत में बेरोजगारी की दर सबसे खराब है।

येचुरी ने ट्वीट करके पीएम मोदी पर निशाना साधा। उन्होंने कहा कि पीएम मोदी को एक बार 'नौकरी पार चर्चा करनी चाहिए' और लाखों बेरोजगारों की 'मन की बात' सुननी चाहिए। उन्होंने यह बेरोजगारी नोटबंदी जैसी नीतियों और खराब तरह से जीएसटी लागू करके पैदा की है। 

'परिक्षा पे चर्चा' कार्यक्रम को लेकर पीएम मोदी पर निशाना

गौरतलब है कि प्रधानमंत्री मोदी ने सोमवार को 'परिक्षा पे चर्चा' कार्यक्रम के दौरान छात्रों के साथ बातचीत की। इसी के बाद येचुरी ने पीएम मोदी पर निशाना साधा है। येचुरी ने कहा कि स्वतंत्र भारत में बेरोजगारी की दर इस समय सबसे खराब है। 15-19 वर्ष की आयु के लोगों में बेरोजगारी 45% है।  20-24 वर्ष के बीच के लोगों के लिए 37% और शहरी भारत में बेरोजगारी 44% है। 

पीएम मोदी ने छात्रों को परीक्षा के तनाव से बचने के सुझाव दिए

प्रधानमंत्री मोदी ने सोमवार को इस कार्यक्रम में छात्रों के साथ बातचीत के दौरान चंद्रयान और क्रिकेट का उदाहरण देकर छात्रों को परीक्षा के तनाव से बचने के सुझाव दिए। पीएम मोदी ने विफलता से निपटने के लिए चंद्रयान-2 का उदाहरण दिया। लगभग 2,000 छात्रों ने इस कार्यक्रम में भाग लिया।

सिब्बल ने भी साधा था पीएम पर निशाना

इससे कांग्रेस के वरिष्ठ नेता कपिल सिब्बल ने सोमवार को प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी पर 'परिक्षा पे चर्चा' को लेकर निशाना साधा। उन्होंने इस कार्यक्रम को 'राजनीतिक नौटंकी' बताया। सिब्बल ने कहा कि पीएम को छात्रों को इस परीक्षा में भाग लेने के लिए कहने के बजाय बोर्ड परीक्षाओं के लिए तैयारी करने देना चाहिए। उन्होंने कहा कि यह बोर्ड का समय है। पीएम मोदी को ऐसे में छात्रों का समय बर्बाद नहीं करना चाहिए। 

Posted By: Tanisk

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस