नई दिल्ली, एएनआइ। केंद्र सरकार ने कोरोना महामारी से उत्पन्न स्थितियों पर चर्चा करने के लिए चार दिसंबर को सर्वदलीय बैठक बुलाई है। अब इस बैठक में छोटे दलों ने भी शामिल होने की इच्छा जाहिर की है। इसको लेकर उन्होंने प्रधानमंत्री मोदी को आज एक पत्र लिखा। सीपीआइ(CPI) सांसद बिनॉय विश्वम ने प्रधानमंत्री मोदी को लिखे एख पत्र में लिखा है कि चार दिसंबर को कोरोना पर सर्वदलीय बैठक के दौरान छोटे दलों के सांसदों को अपनी राय और सुझाव साझा करने के लिए कुछ समय दिया जाना चाहिए।

चार को होगी सर्वदलीय बैठक

देश में कोरोना वायरस महामारी के हालात के मद्देनजर सरकार तैयारियों में जुट गई है। केंद्र सरकार ने कोरोना वायरस महामारी से उत्पन्न स्थिति पर चर्चा करने के लिए चार दिसंबर को सर्वदलीय बैठक बुलाई है। आधिकारिक सूत्रों के अनुसार, बैठक के लिए संसदीय कार्य मंत्रलय समन्वय कर रहा है। संसद के दोनों सदनों में सभी पार्टियों के नेताओं को शुक्रवार सुबह साढ़े दस बजे होने वाली ऑनलाइन बैठक के लिए आमंत्रित किया गया है। कोरोना काल में दूसरी बार सरकार ने हालात पर चर्चा के लिए सर्वदलीय बैठक बुलाई है। इससे पूर्व राष्ट्रव्यापी लॉकडाउन के दौरान 20 अप्रैल को पहली बैठक हुई थी। 

चार दिसंबर की बैठक में रक्षामंत्री राजनाथ सिंह, गृह मंत्री अमित शाह, स्वास्थ्य मंत्री हर्षवर्धन, संसदीय कार्यमंत्री प्रहलाद जोशी सहित सरकार के शीर्ष मंत्रियों के बैठक में शामिल होने की उम्मीद है। सरकार द्वारा सांसदों को महामारी से निपटने के लिए उठाए गए विभिन्न कदमों के बारे में जानकारी दिए जाने की संभावना है। वैक्सीन के विकास और वितरण के विषय पर भी चर्चा हो सकती है। कांग्रेस के नेता अधीर रंजन चौधरी और गुलाम नबी आजाद, तृणमूल कांग्रेस के सुदीप बंदोपाध्याय और डेरेक ओ ब्रायन, वाईएसआर कांग्रेस के मिथुन रेड्डी और विजयसाई रेड्डी समेत अन्य नेताओं के बैठक में हिस्सा लेने की संभावना है।

Edited By: Shashank Pandey