नई दिल्ली। कांग्रेस सांसद शशि थरूर ने हाई कोर्ट में अर्जी दायर कर मांग की है कि सुनंदा पुष्कर द्वारा मौत से पहले किए गए ट्वीट पेश करने के लिए पुलिस को आदेश दिया जाए। इस पर कोर्ट ने दिल्ली सरकार का पक्ष मांगा है। शशि थरूर ने अर्जी में कहा है कि सुनंदा पुष्कर का ट्विटर खाता जांचना जरूरी है, ताकि पता चल सके कि उनकी मानसिक स्थिति क्या थी।

पुलिस ने ब्लैकबेरी के तीन फोन जब्त किए और लैब में जांच के लिए भेजा। जहां पर सोशल मीडिया खाते, फोटो और एसएमएस सहित कई जांच हुई। पुलिस को जो अपने लिए सुविधाजनक लगा, वह डाटा अदालत में पेश कर दिया, जबकि, पुलिस को वह सब भी अदालत में पेश करना चाहिए जो आरोपित के पक्ष में है। राउज एवेन्यू की एक अदालत ने थरूर की अर्जी खारिज कर दी थी, जिसे उन्होंने हाई कोर्ट में चुनौती दी है।

विमानन महानिदेशालय करेगा कामरा की शिकायत की जांच

एक चैनल के पत्रकार को उकसाने के आरोपों पर एयरलाइंस द्वारा लगाए गए प्रतिबंध के खिलाफ गुरुवार को स्टैंड-अप कॉमेडियन कुणाल कामरा की याचिका पर हाई कोर्ट में सुनवाई हुई। विमानन महानिदेशालय ने हाई कोर्ट में कहा कि कामरा की शिकायत की जांच कराई जाएगी। इस पर हाई कोर्ट ने शिकायत पर आठ सप्ताह में फैसला करने का आदेश देते हुए याचिका का निपटारा कर दिया। कामरा ने कहा था कि इंडिगो के अलावा एयर इंडिया, स्पाइसजेट और गो एयर ने मामले की जांच के लिए आंतरिक कमेटी का गठन किए बगैर ही उन पर अनिश्चितकाल के लिए प्रतिबंधित लगा दिया, जिसे हटाया जाए।

तरनतारन में शिवसेना नेता को जान से मारने की धमकी

शिवसेना (बाल ठाकरे) के प्रदेश उपाध्यक्ष अश्विनी कुमार कुक्कू को जान से मारने की धमकी मिली है। गुरुवार सुबह श्री ठाकुरद्वारा मदन मोहन मंदिर के बाहर खालिस्तानी समर्थकों ने एक धमकी भरा पोस्टर लगा दिया। जरनैल सिंह भिंडरांवाला की तस्वीर लगे पोस्टर में लिखा था कि अमृतसर व धारीवाल में शिवसेना नेताओं के साथ जो हुआ था, ऐसा ही हश्र कुक्कू प्रधान का होगा। पुलिस ने पोस्टर उतरवाकर जांच शुरू कर दी है।

Posted By: Shashank Pandey

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस