ईंटानगर, प्रेट्र। अरुणाचल प्रदेश के चुनाव आयोग ने नगर निगम और पंचायत चुनावों को अस्‍थायी तौर पर रोकने का फैसला लिया है। कोरोना वायरस के मद्देनजर लिए गए इस फैसले पर अधिकारियों ने शनिवार को यह जानकारी दी। आयोग ने ऐलान किया कि इस साल अप्रैल-मई में चुनाव होंगे हालांकि अभी इसके लिए तिथि निश्‍चित नहीं की गई है।

राज्‍य में चुनाव कमिश्‍नर हेज कोजीन (Hage Kojeen) ने कहा, ‘यदि चुनाव कराए जाते हैं तो अधिक संख्‍या में लोग जमा होंगे, अभियान किए जाएंगे और राज्‍य भर में रैलियां शुरू हो जाएंगी।’ उन्‍होंने कहा, ‘कोरोना वायरस के कारण अभी चुनाव कराने का फैसला यह लोगों के स्‍वास्‍थ्‍य के लिए नुकसानदायक होगा।’ राज्‍य सरकार ने 16 मार्च को नोटिफिकेशन जारी किया जिसमें 5 अप्रैल तक लोगों का समूह या भीड़ एकत्र करने पर रोक लगाई।

राज्‍य सरकार की याचिका के जवाब में शुक्रवार को यह फैसला लिया गया था। बता दें कि इसके लिए विभिन्‍न राजनीतिक पार्टियों की ओर से भी आग्रह किया गया था कि मौजूदा हालात को देखते हुए ही चुनाव की तिथि निश्‍चित की जाए।

कोजीन ने कहा कि राज्‍य स्‍वास्‍थ्‍य विभाग व विभिन्‍न राजनीतिक पार्टियों ने पहले ही चुनावी पैनल से आग्रह किया था कि चुनाव की तिथि को आगे बढ़ाने पर विचार किया जाए। कोरोना वायरस को लेकर फैले खौफ के बीच राज्‍य में स्‍कूल और शिक्षण संस्‍थान, सिनेमा हॉल्‍स, नाइट क्‍लब्‍स और साप्‍ताहिक बाजारों को 5 अप्रैल तक बंद रहेंगे। साथ लोगों से अपील किया है कि वे किसी तरह के समारोह या समूह में जाने से बचें। \

सरकार ने विदेश यात्रियों को दिए जाने वाले इनर लाइन परमिट (ILPs) और प्रोटेक्‍टेड एरिया परमिट (PAP) पर रोक लगा दी है। इस बीच रिटायर गवर्नर ब्रिगेडियर डॉ. बीडी मिश्रा (Dr B D Mishra) ने राज्‍य के लोगों से अपील किया है कि वे ज्‍यादा भयभीत या उग्र न हों लेकिन परहेज करें। राज्‍य के विभिन्‍न चेक पोस्‍ट पर कुल 68,172 यात्रियों की जांच की गई अबतक कोई भी पॉजिटिव केस नहीं आया है।

Posted By: Monika Minal

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस