नई दिल्ली, PTI: कांग्रेस ने अपने सभी प्रवक्ताओं और संचार विभाग के पदाधिकारियों से चुनाव लड़ने वाले किसी भी सहयोगी पर टिप्पणी करने से कोताही बरतने का आग्रह किया है। कांग्रेस ने यह कदम तब उठाया है, जब एक दिन पहले पार्टी नेता गौरव वल्लभ ने AICC अध्यक्ष के चुनाव में संभावित दावेदारी को लेकर शशि थरूर की आलोचना की थी। गौरव वल्लभ ने गुरुवार को शशि थरूर पर निशाना साधते हुए, कहा था कि पार्टी में उनका एकमात्र बड़ा योगदान सोनिया गांधी को पत्र भेजना था, जब वह अस्पताल में भर्ती थीं।

जयराम रमेश ने नेताओं को भेजा संदेश

बता दें कि कांग्रेस अध्यक्ष पद के लिए होने वाले चुनाव में गौरव वल्लभ ने राजस्थान के मुख्यमंत्री अशोक गहलोत के प्रति समर्थन व्यक्त किया था। सूत्रों ने बताया कि AICC महासचिव जयराम रमेश ने सभी प्रवक्ताओं और सभी जनसंपर्क कार्यालयों को संदेश भेजा है। जयराम रमेश ने कहा, 'मैं सभी प्रवक्ताओं और जनसंपर्क कार्यालयों से आग्रह करता हूं कि पार्टी के शीर्ष पद के लिए चुनाव लड़ने वाले किसी भी सहयोगी पर टिप्पणी करने से परहेज करें।'

ये भी पढ़ें: अशोक गहलोत बोले- अध्यक्ष पद के लिए लड़ूंगा चुनाव, गैर गांधी ही संभालेगा जिम्मेदारी

सभी को चुनाव लड़ने की आजादी

सूत्रों के अनुसार, जयराम रमेश ने कहा, 'हम सभी को व्यक्तिगत आजादी है, लेकिन हम सिर्फ कांग्रेस के लिए कम करते हैं। कांग्रेस एकमात्र राजनीतिक दल है जो अपने अध्यक्ष पद के लिए लोकतांत्रिक व पारदर्शी तरीके से चुनाव कराती है।' उन्होंने अपने नेताओं से कहा कि उनका काम सिर्फ कांग्रेस को आगे ले जाना है। सूत्रों के मुताबिक, अध्यक्ष पद का चुनाव लड़ने के इच्छुक व्यक्ति को नामांकन फार्म भरने के लिए 10 PCC प्रतिनिधियों को छोड़कर किसी की अनुमति की आवश्यकता नहीं है। प्रवक्ताओं को यह सुनिश्चित करना होगा कि चुनाव स्वतंत्र और निष्पक्ष हों

ये भी पढ़ें: कैसे होता है कांग्रेस पार्टी में अध्‍यक्ष का चुनाव, यहां जानें पूरी प्रक्रिया

सूत्रों ने कांग्रेस महासचिव के हवाले से बताया, 'अगर चुनाव 17 अक्टूबर को होता है, तो हम इसका स्वागत करते हैं। पूरे पार्टी-संगठन का ध्यान इस समय भारत जोड़ों यात्रा पर होना चाहिए, जिसे पहले से ही अच्छा रिस्पान्स मिला है।

Edited By: Devshanker Chovdhary