गांधीनगर, (प्रेट्र)। गुजरात विधानसभा से मंगलवार को कांग्रेस के 28 विधायकों को 15 दिनों के लिए निलंबित कर दिया गया। ये विधायक पार्टी के वरिष्ठ सदस्य विरजी थूमर के निलंबन के विरोध में हंगामा कर रहे थे। विधानसभा अध्यक्ष राजेंद्र त्रिवेदी ने निलंबित विधायकों को सदन से बाहर निकलवा दिया। बाद में कांग्रेस के मुख्य सचेतक अमित चवदा ने अपनी पार्टी के सहयोगियों की ओर से माफी मांगी। उनके माफी मांगने के बाद विधानसभा अध्यक्ष ने विधायकों का निलंबन वापस ले लिया। जिस समय राज्य के कृषि मंत्री आरसी फाल्दू अपने विभाग के लिए बजटीय मांग रख रहे थे उस समय सदन में हंगामा हो गया।

कृषि मंत्री के भाषण के दौरान हुआ हंगामा
दरअसल, कृषि मंत्री आरसी फालदू के अपने विभाग के लिए बजटीय मांग पर बोलने के दौरान सदन में शोरगुल होने लगा। उनके भाषण से पहले ठुमर ने सदन में दावा किया कि गुजरात में भाजपा सरकार ने 22 साल के शासन में एक बांध तक नहीं बनाया है। इस दावे का जवाब देते हुए फालदू ने पिछले दो दशक में राज्य सरकार द्वारा शुरू की गई विभिन्न सिंचाई योजनाएं गिनाई।

Posted By: Arti Yadav