जागरण ब्यूरो, नई दिल्ली। अनुच्छेद 370 को लेकर प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के विपक्ष पर लगातार वार पर कांग्रेस ने तगड़ा पलटवार करते हुए चुनौती दी है कि हिम्मत है तो वे जनता को ये भी बताएं कि कांग्रेस ने पाकिस्तान के अभिन्न अंग के टुकड़े किए थे। हरियाणा और महाराष्ट्र के चुनाव में जनता से जुड़े असली मुद्दों को दरकिनार किए जाने को लेकर पीएम और भाजपा अध्यक्ष अमित शाह पर भी पार्टी ने निशाना साधा। साथ ही अर्थव्यवस्था की मंदी पर सरकार को घेरते हुए कहा कि वह देश को हर मोर्चे पर पीछे ले जा रही है।

सिब्बल ने मोदी से कहा- कांग्रेस ने ही पाक के दो टुकड़े किए थे

वरिष्ठ कांग्रेस नेता कपिल सिब्बल ने प्रेस कांफ्रेंस में कहा कि यह बेहद दुर्भाग्यपूर्ण है कि नरेंद्र मोदी और अमित शाह देश की हर चीज में राजनीतिक फायदे के अलावा दूसरा कुछ नहीं देख रहे। सिब्बल ने तंज कसते हुए कहा कि पीएम मोदी को केवल अनुच्छेद 370 याद है मगर वे नहीं जानते कि पाकिस्तान के दो टुकड़े कब हुए और यह किसने किया? तो हम पीएम मोदी को याद दिलाते हैं कि कांग्रेस ने पाकिस्तान के अभिन्न अंग (पूर्वी पाकिस्तान को तोड़कर बांग्लादेश बनाना) के दो टुकड़े किए।

कांग्रेस सरकार की वजह से पाकिस्तान को अपना अभिन्न अंग खोना पड़ा था

यह कांग्रेस सरकार थी जिसकी वजह से पाकिस्तान को अपना अभिन्न अंग खोना पड़ा और तब मोदी का कहीं अता-पता भी नहीं था। इस प्रहार के साथ सिब्बल ने पीएम को चुनौती दी कि साहस है तो हरियाणा और महाराष्ट्र के लोगों को वे बताएं कि कांग्रेस ने पाकिस्तान के दो टुकड़े किए थे।

वैश्विक हंगर इंडेक्स में भारत नीचे खिसका

वैश्विक हंगर इंडेक्स में भारत के नीचे खिसकने और कुपोषण की बढ़ी चुनौती पर सरकार को घेरते हुए सिब्बल ने कहा कि अनुच्छेद 370 को याद करिए मगर अपने संवैधानिक दायित्व को मत भूल जाइए। जम्मू-कश्मीर के संपूर्ण और बच्चों के विकास में इस अनुच्छेद के बाधा बनने के गृहमंत्री अमित शाह के संसद में दिए बयान को उन्होंने विरोधाभासी करार दिया।

जिन सूबों में अनुच्छेद 370 नहीं था वहां की हालत जम्मू-कश्मीर से खराब

पोषण और स्वास्थ्य से लेकर विकास के कई मानकों पर गुजरात, महाराष्ट्र, हरियाणा और उत्तरप्रदेश की स्थिति जम्मू-कश्मीर से खराब होने का तर्क देते हुए सिब्बल ने कहा कि इन सूबों में तो अनुच्छेद 370 नहीं था फिर यह स्थिति क्यों है। कांग्रेस प्रवक्ता ने कहा कि वैश्विक लोकतंत्र की रैकिंग में भी भारत कई पायदान नीचे चला गया है जो साफ बता रहा कि देश में लोकतंत्र गहरे चुनौतीपूर्ण खतरे के दौर में है।

अर्थव्यवस्था के मोर्चे पर मोदी सरकार नाकाम

अर्थव्यवस्था के मोर्चे पर सरकार को नाकाम बताते हुए सिब्बल ने कहा कि विश्व की तमाम प्रमुख एजेंसियों और संस्थाओं ने भारत के विकास दर अनुमान घटा दिए हैं। आर्थिक मंदी का असर सभी लोगों को पड़ रहा और नौकरियां मिलने की बजाय जा रही हैं।

सिब्बल ने कहा- देश में नौकरियों का अभाव

रोजगार की तलाश में 300 से अधिक लोगों को मैक्सिको से वापस भारत भेजे जाने की घटना का जिक्र करते हुए सिब्बल ने कहा कि देश में नौकरी नहीं है इसलिए गरीब लोग बाहर जाना चाहते हैं। अमेरिकी कस्टम और बार्डर सुरक्षा की रिपोर्ट का हवाला देते हुए सिब्बल ने यह भी कहा किबीते तीन साल में नौकरी के लिए अवैध तरीके से अमेरिका में प्रवेश करने के क्रम में पकड़े गए भारतीयों की संख्या में तीन गुना बढ़ोतरी हुई है।

Posted By: Bhupendra Singh

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस