तिरुवनंतपुरम, एएनआइ। कांग्रेस अध्‍यक्ष राहुल गांधी मंगलवार को केरल बाढ़ पीड़ितों का हाल जानने के लिए तिरुवनंतपुरम पहुंचे। इस दौरान उन्‍होंने एक एयर एंबुलेंस को रास्‍ता देकर, खुद इंतजार किया। राहुल ने यह सुनिश्चित किया कि मेडिकल इमर्जेंसी के लिए एयर एंबुलेंस पर जा रहे पीडि़त को प्राथमिकता दी जाए और उसे जल्‍द से जल्‍द अस्‍पताल पहुंचाया जा सका।

राहुल गांधी की इस पूरे वाक्‍ये को लेकर सराहना हो रही है। दरअसल, राहुल को चेंगनूर हेलिपैड से उड़ान भरनी थी। इसी दौरान वहां से एक एयर एंबुलेंस को भी रवाना होना था। राहुल को जब पता लगा कि एयर एंबुलेंस में हार्ट अटैक से जूझ रही महिला को ले जाया जा रहा है तो उन्होंने अपने हेलिकॉप्टर को उड़ान भरने से रोक दिया और एयर एंबुलेंस को पहले उड़ान भरने के लिए कहा। वहां राहुल ने खुद थोड़ी देर रुककर यह सुनिश्चित किया कि मेडिकल इमर्जेंसी के लिए जा रही एयर एंबुलेंस को पहले भेजा जाए। एंबुलेंस जब चली गई, तब राहुल अपने हेलिकॉप्‍टर में बैठे और वहां से रवाना हुए।

चेंगनूर हेलिपैड पर राहुल गांधी के साथ कुछ स्‍थानीय नेता और एसपीजी के जवान भी थे। राहुल चाहते तो पहले अपने हेलिकॉप्‍टर को उड़ान भरने के लिए कह सकते थे। ऐसे करने से उन्‍हें कोई ना रोकता। लेकिन उन्‍होंने इंसानियत को तवज्‍जो दी और एयर एंबुलेंस को पहले उड़ान भरने के लिए कहा।

बता दें कि राहुल गांधी दो दिनों के दौरे पर केरल आए हैं। पहले दिन उन्‍होंने राहत शिविरों में लोगों से बातचीत की। बाढ़ के कारण राज्य में व्यापक तबाही मची है। अलापुझा में मछुआरा समुदाय की सराहना करते हुए कांग्रेस अध्यक्ष ने कहा कि तटरक्षक भविष्य में राहत अभियान में मछुआरों की सेवा लें। तिरुअनंतपुरम पहुंचने के बाद वह हेलिकॉप्टर से अलापुझा जिले में चेंगन्नूर गए। कांग्रेस प्रमुख ने सबसे पहले वहां क्रिश्चियन कॉलेज में राहत शिविर का दौरा किया और वहां रह रहे लोगों से बात की। उन्होंने एक इंजीनियरिंग कॉलेज में बने राहत शिविर का भी दौरा किया। शिविर में उपस्थित लोगों में केरल विधानसभा में विपक्ष के नेता रमेश चेन्नितला और कांग्रेस की प्रदेश इकाई के अध्यक्ष एमएम हासन भी मौजूद थे।

Posted By: Tilak Raj

अब खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस, डाउनलोड करें जागरण एप