मोदी सरकार - 2.0 के 100 दिन

नई दिल्ली, जेएनएन। पूर्व मुख्यमंत्री भूपेंद्र सिंह हु्ड्डा के यहां शुक्रवार को पड़े छापों से एक बार फिर सियासत गरमा गई है। कांग्रेस ने आरोप लगाया है कि मोदी सरकार राजनीतिक दुर्भावना से काम कर रही है और वे सरकार में आने पर ऐसे सब मामलों की जांच करवाएंगे। उन्होंने कहा कि आज जो अधिकारी राजनीतिक आकाओं के कहने पर अपने पद का दुरुपयोग कर रहे हैं उन्हें ये जान लेना चाहिए कि इस देश में कानून का राज चलेगा। 

गौरतलब है कि शुक्रवार सुबह से हरियाणा और दिल्ली-एनसीआर समेत करीब 30 जगहों पर सीबीआइ छापेमारी कर रही है। बताया जा रहा है कि हाल ही में दर्ज हुए भूमि अधिग्रहण के मामले में लगे आरोपों के सिलसिले में ये कार्रवाई हो रही है। सुबह जब भूपेंद्र सिंह हुड्डा के घर छापा मारा गया तो वे घर पर ही मौजूद थे। सीबीआइ ने छापेमारी के दौरान न तो किसी को घर के अंदर जाने दिया गया और न ही किसी को बाहर निकलने दिया गया। छापे की इस कार्रवाई से शहर में सनसनी फैल गई। 

वहीं, कांग्रेस नेता ने दिल्ली में पत्रकारवार्ता को संबोधित करते हुए कहा कि आज जींद में होने जा रहे उपचुनाव के लिए प्रचार का आखिरी दिन था। भूपेंद्र सिंह हुड्डा यहां कांग्रेस उम्मीदवार रणदीप सिंह सुरजेवाला के प्रचार के लिए एक रैली को संबोधित करने वाले थे। लेकिन सुबह से ही सरकार के इशारे पर ये कार्रवाई की गई। उन्होंने कहा कि मोदी सरकार को हार का डर सता रहा है। 

बता दें कि जींद में 28 जनवरी को उपचुनाव के लिए मतदान होना है। वैसे तो शनिवार को चुनाव प्रचार का आखिरी दिन है लेकिन गणतंत्र दिवस के चलते सभी पार्टियों के लिए आज का दिन प्रचार के लिए एक तरह से अंतिम दिन है। 

 

Posted By: Vikas Jangra

अब खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस, डाउनलोड करें जागरण एप