नई दिल्ली, एएनआइ। नागरिकता संशोधन विधेयक 2019 को लेकर शिवसेना ने यूटर्न लिया है। महाराष्ट्र के मुख्यमंत्री और शिवसेना प्रमुख उद्धव ठाकरे ने मंगलावर को नागरिकता संशोधन बिल पर मोदी सरकार को घेरते हुए कहा कि  जबतक सबकुछ साफ नहीं होता वह बिल का समर्थन नहीं करेेंगे। बता दें कि लोकसभा में शिवसेना ने इस विधेयक का समर्थन किया था। सोमवार को यह विधेयक लोकसभा में पास हुआ था। बुधवार को राज्यसभा में यह बिल पेश हो सकता है।  

उद्धव ठाकरे ने कहा कि यदि कोई भी नागरिक इस विधेयक से डरता है तो उनकी शंकाओं को दूर करना चाहिए। वे हमारे नागरिक हैं, इसलिए उनके सवालों का जवाब देना चाहिए। राज्यसभा में पेश होने से पहले हमने बिल में कई बदलाव का सुझाव दिया है।

लोकसभा में शिवसेना के सवाल का उत्तर नहीं दिया गया

उद्धव ठाकरे ने यह भी कहा कि यह धारणा बदलने की जरूरत है कि भाजपा और जो इस बिल का समर्थन करता है वह देशभक्त है। नागरिकता संशोधन बिल पर लोकसभा में शिवसेना के सवाल का उत्तर नहीं दिया गया। इसलिए जबतक इन सवालों का जवाब नहीं दिया जाता तबतक हम राज्यसभा में इस बिल का समर्थन नहीं करेंगे।  

केवल भाजपा देश का हित चाहती है यह एक भ्रम है- उद्धव ठाकरे 

उद्धव ठाकरे ने कहा कि यदि कोई भी नागरिक इस विधेयक से डरता है तो उनकी शंकाओं को दूर करना चाहिए। वे हमारे नागरिक हैं, इसलिए उनके सवालों का जवाब देना चाहिए। उन्होंने सरकार पर निशाना साधते हुए कहा कि अगर कोई इससे असहमत होता है तो वह देशद्रोही है। यह कहना उनका भ्रम है। केवल भाजपा देश का हित चाहती है यह एक भ्रम है। 

राज्यसभा में हम नागरिकता बिल का समर्थन करेंगे- अरविंद सावंत 

इससे पहले शिवसेना नेता अरविंद सावंत ने कहा था कि लोकसभा के बाद राज्यसभा में हम नागरिकता बिल का राष्ट्रीय हित में समर्थन करेंगे। सावंत ने कहा था कि हम इस बिल का समर्थन करेंगे। उन्होंने कहा था कि शिवसेना ने हमेशा कहा कि वह राष्ट्रीय हित के लिए खड़ी रहती है। यह किसी का एकाधिकार नहीं है। शिवसेना नेता ने कहा कि उनकी पार्टी महाराष्ट्र में कांग्रेस के साथ गठबंधन पर असर नहीं पड़ेगा। 

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस