लखनऊ (जागरण संवाददाता)। गृहमंत्री राजनाथ सिंह ने कहा कि रमजान के समय सीजफायर रखने संबंधी जम्मू-कश्मीर की मुख्यमंत्री महबूबा मुफ्ती की मांग पर केंद्र सरकार विचार करेगी। हालांकि, इस बारे में अभी उनकी महबूबा मुफ्ती से कोई मुलाकात नहीं हुई है। उन्होंने पिछले दिनों कश्मीर में पर्यटक की पत्थरबाजी से जान जाने की घटना को दुर्भाग्यपूर्ण करार देते हुए कहा कि इसकी पुनरावृत्ति नहीं होने दी जाएगी। पर्यटकों की सुरक्षा को लेकर सरकार गंभीर है। वह गुरुवार को लखनऊ के मोहनलालगंज में बीएसएफ की 125 बटालियन के नवनिर्मित गैर आवासीय भवनों के लोकार्पण समारोह में बोल रहे थे।

उन्होंने कहा कि अटल जी के नेतृत्व में छह साल और मोदी जी के चार साल के कार्यकाल को मिला दिया जाए तो इन 10 साल में भाजपा पर भ्रष्टाचार का एक भी दाग नहीं लगा है। काम कम हुआ है या ज्यादा किया गया है, इस पर तो बहस हो सकती है लेकिन सरकार की नीयत को लेकर कोई सवाल नहीं उठा सकता। साथ ही उन्होंने कहा कि 2019 के आम चुनाव में भी भाजपा को पूर्ण बहुमत मिलेगा। वहीं, कर्नाटक के चुनाव में भी भाजपा अपनी सरकार बनाएगी।

सैनिक सम्मेलन को किया संबोधित

समारोह के दौरान राजनाथ सिंह ने बीएसएफ, सीआरपीएफ और सशस्त्र सीमा बल के जवानों के सैनिक सम्मेलन को संबोधित किया। कमाडेंट एके चक्रवर्ती ने कहा कि जवानों के परिवारों को रहने के लिए सुरक्षित माहौल, शिक्षा व मेडिकल की सुविधा मिलती है तो वह भी निश्चिंत होकर सीमा पर देश की रक्षा करते हैं। लखनऊ सहित कई प्रमुख शहरों में इसके लिए लोकेशन प्वाइंट स्थापित किए गए हैं। देश में कुल 261 लोकेशन प्वाइंट की स्थापना की स्वीकृति मिल चुकी है।

Posted By: Nancy Bajpai

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस