नई दिल्ली, प्रेट्र। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की अध्यक्षता वाली उच्चस्तरीय चयन समिति द्वारा गुरुवार शाम सीबीआइ प्रमुख पद से हटाए जाने से पहले आलोक वर्मा ने दिन में बहाली के दूसरे दिन पांच अफसरों का तबादला किया था। इनमें दो संयुक्त निदेशक, दो डीआइजी और एक सहायक निदेशक शामिल हैं।

इससे पहले उन्होंने अंतरिम निदेशक एम. नागेश्वर राव के ज्यादातर ट्रांसफर आदेशों को रद कर दिया था। आलोक वर्मा को छुट्टी पर भेजने के केंद्र के फैसले के बाद नागेश्वर राव को अंतरिम निदेशक बनाया गया था। उन्होंने वर्मा की टीम के 10 सीबीआइ अफसरों के ट्रांसफर किए थे।

वर्मा ने बहाली के दूसरे दिन सीबीआइ में एसपी मोहित गुप्ता को राकेश अस्थाना के खिलाफ लगे आरोपों की जांच का जिम्मा सौंपा था। उनके द्वारा ट्रांसफर किए गए अन्य अधिकारियों में संयुक्त निदेशक अजय भटनागर, संयुक्त निदेशक मुरुगेसन, डीआइजी एमके सिन्हा, डीआइजी तरुण गौबा और सहायक निदेशक एके शर्मा शामिल हैं। इसके अलावा अनीश प्रसाद को मुख्यालय में उपनिदेशक (प्रशासन) बनाए रखने और केआर चौरसिया को स्पेशल यूनिट-1 (सर्विलांस) की जिम्मेदारी सौंपी गई थी।

Posted By: Manish Negi

अब खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस, डाउनलोड करें जागरण एप