नई दिल्‍ली (जेएनएन)। पंजाब के पूर्व मुख्यमंत्री कैप्टन अमरिंदर सिंह आज केंद्रीय गृह मंत्री अमित शाह के साथ मुलाकात करने वाले हैं। इन दोनों के बीच होने वाली ये मुलाकात कई मायनों में बेहद खास है। पंजाब के मुख्‍यमंत्री पद छोड़ने और कांग्रेस से इस्‍तीफा देने के बाद उनकी ये शाह के साथ दूसरी मुलाकात है। इन दोनों के बीच होने वाली इस मुलाकात के मायने की यदि बात करें तो कहा जा रहा है कि ये केंद्र द्वारा लागू किए गए तीन कृषि कानूनों का समाधान तलाशने के लिए हो रही है। बता दें कि पिछले करीब 11 माह से किसान इन कृषि कानूनों के विरोध में उतरे हुए हैं। विपक्ष भी लगातार इन कृषि कानूनों को गलत बता रही है।

किसानों की मांग है कि केंद्र को ये तीनों ही कानून रद करने चाहिए। जम्‍मू कश्‍मीर के पूर्व उप राज्‍यपाल सत्‍यपाल मलिक भी इस मुद्दे पर किसानों के साथ आकर खड़े हो गए हैं। शाह और कैप्‍टन की ये मुलाकात इसलिए भी खास है क्‍योंकि अगले वर्ष पंजाब में विधानसभा चुनाव होने हैं। कैप्‍टन अमरिंदर सिंह इस विधानसभा चुनाव में अपनी नई पार्टी के साथ उतरने का एलान कर चुके हैं।

अमरिंदर की तरफ से कहा गया है कि इसका हल जल्‍द ही तलाश कर लेना जरूरी है। इस मुलाकात में कैप्‍टन अमरिंदर के साथ 25 कृषि वैज्ञानिक भी जा रहे हैं, जो इस मसले को सुलझाने के लिए अपने सुझाव अमित शाह के सामने पेश करेंगे। अमरिंदर सिंह इस वक्‍त अपनी महिला दोस्‍त को लेकर भी निशाने पर आए हैं। इस मसले पर पंजाब सरकार के मंत्री ही उन्‍हें घेरने में जुटे हुए हैं।

पंजाब में अगले वर्ष होने वाले विधानसभा चुनाव को लेकर भी इन दोनों की ये मुलाकात काफी खास मानी जा रही है। गौरतलब है कि पंजाब में भाजपा भी खुद को मजबूत करने की राह तलाश रही है और कांग्रेस से अलग हुए अमरिंदर भी यहां पर राजनीति की एक नई पारी खेल रहे हैं। 

Edited By: Kamal Verma