नई दिल्ली, जेएनएन। उत्तर प्रदेश कैडर के वरिष्ठ आइएएस अधिकारी प्रदीप कुमार सिन्हा अगले तीन महीने तक कैबिनेट सचिव बने रहेंगे। नियुक्ति से संबंधित मंत्रिमंडलीय समिति ने तीन महीने के लिए उन्हें सेवा विस्तार देने का फैसला किया है। पीके सिन्हा का कार्यकाल अगले बुधवार (12 जून) को समाप्त होने जा रहा था। पीके सिन्हा को सेवा विस्तार मिलने से गृह सचिव राजीव गौबा के कैबिनेट सचिव बनाए जाने की अटकलों पर फिलहाल विराम लग गया है।

पीके सिन्हा को पहली बार 13 जून 2015 को कैबिनेट सचिव बनाया गया था। दो साल के तय कार्यकाल के समाप्त होने के बाद होने उन्हें दो बार सेवा विस्तार दिया जा चुका है। अब तीसरी बार उन्हें तीन महीने के लिए सेवा विस्तार मिला है। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी और गृहमंत्री अमित शाह की नियुक्ति संबंधी मंत्रिमंडलीय समिति ने यह विस्तार दिया है।

कैबिनेट सचिव बनने के पहले पीके सिन्हा ऊर्जा सचिव और जहाजरानी सचिव रह चुके हैं। इसके साथ ही उन्होंने ग्रेटर नोएडा अथॉरिटी के अतिरिक्त सीईओ से लेकर वाराणसी के आयुक्त समेत उत्तर प्रदेश में अहम पदों पर काम कर चुके हैं। सिन्हा ने सेंट स्टीफन कॉलेज से अर्थशास्त्र में स्नातक किया और दिल्ली स्कूल ऑफ इकोनॉमिक्स से अर्थशास्त्र में स्नातकोत्तर की डिग्री हासिल की।

 

लोकसभा चुनाव और क्रिकेट से संबंधित अपडेट पाने के लिए डाउनलोड करें जागरण एप

Posted By: Tanisk

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस