नई दिल्ली, प्रेट्र। जम्मू-कश्मीर से अनुच्छेद 370 को खत्म करने के मोदी सरकार के फैसले के खिलाफ पाकिस्तान द्वारा अंतरराष्ट्रीय समर्थन जुटाने के प्रयास के बीच भाजपा ने मंगलवार को जोर देकर कहा कि कोई भी प्रमुख मुस्लिम देश इस्लामाबाद के साथ नहीं है क्योंकि वे इसे भारत का आंतरिक मामला मानते हैं।

केंद्रीय मंत्री धर्मेद्र प्रधान ने उनकी हाल की सऊदी अरब, संयुक्त अरब अमीरात और कतर की यात्रा का जिक्र करते हुए कहा कि इन देशों ने इस मामले में भारत के रूख की पुष्टि की है। अनुच्छेद 370 के अधिकांश प्रावधानों को समाप्त करने के निर्णय पर लोगों में जनमत बनाने के भाजपा के महीने भर चले अभियान को लेकर प्रधान ने संवाददाताओं से यह बात कही। उनसे पाकिस्तान के प्रधानमंत्री इमरान खान के भारत विरोधी अभियान के बारे में पूछा गया था।

खान पर चुटकी लेते हुए केंद्रीय मंत्री ने कहा कि यहां तक कि पाकिस्तानी मीडिया में भी यह स्पष्ट है कि खान को कितनी सफलता मिली। उन्होंने यह भी कहा कि खान का इस्लामिक देशों के संगठन से समर्थन प्राप्त करने का अभियान भी विफल रहा।

गौरतलब है कि पाक इस मुद्दे को लेकर मुस्लिम देशों के संगठन ऑर्गेनाइजेशन ऑफ इस्लामिक को-ऑपरेशन यानी ओआईसी में भी ले गया, जिसके दुनिया भर के 57 मुस्लिम बहुल देश सदस्य हैं। ओआईसी ने जम्मू-कश्मीर मुद्दे पर कहा कि इसे सुलझाने के लिए दोनों देशों के बीच बातचीत शुरू की जाए। कुछ दिन पहले पाक के विदेश मंत्री शाह महमूद क़ुरैशी भारत की शिकायत लेकर चीन गए।

चीन ने भी कहा कि कश्मीर समस्या का समाधान दोनों देश मिलकर सुलझाएं। पाकिस्तान ने बहुत ही उम्मीद के साथ मुस्लिम देशों की ओर नजर टिकाईं। ख़ास कर मध्य-पूर्व के मुस्लिम देशों की तरफ। पाकिस्तान के लिए सबसे झटके वाला रुख संयुक्त अरब अमीरात का रहा।

यह भी पढ़ेंः Jammu and Kashmir बौखलाए आतंकी संगठन, लश्कर, जैश और हिज्ब मिलकर रच रहे खूनखराबे की साजिश

Posted By: Sanjeev Tiwari

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस