जागरण ब्यूरो, नई दिल्ली। राहुल गांधी के प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी पर हमले पर भाजपा ने तीखा पलटवार किया है। कालेधन के खिलाफ मोदी सरकार के कड़े फैसलों और नोटबंदी की उपलब्धियां गिनाते हुए भाजपा प्रवक्ता संबित पात्रा ने कहा कि झूठ की बुनियाद पर महल खड़ा नहीं हो सकता है और राफेल की सवारी कर राहुल का करियर नहीं बनेगा।

राफेल सौदे को लेकर राहुल गांधी की ओर से अलग-अलग कीमत बताने पर कटाक्ष करते हुए भाजपा प्रवक्ता ने कहा कि आरोप लगाने के पहले राहुल गांधी को एक रकम लिखकर रट लेना चाहिए। राहुल गांधी के खिलाफ जेटली के प्राथमिक विद्यालय के बच्चों जैसी बातों की टिप्पणी को दोहराते हुए उन्होंने कहा कि राहुल गांधी को न तो देश की अर्थव्यवस्था की समझ है और न ही रक्षा सौदों की पेंचदीगियों की। पात्रा ने कहा कि संप्रग सरकार के दौरान लड़ाकू विमानों की कमी के कारण वायुसेना की क्षमता गिरती रही। इससे देश की सुरक्षा कमजोर हुई, लेकिन संप्रग सरकार ने कुछ नहीं किया।

संबित पात्रा के अनुसार भाजपा के वरिष्ठ नेता पहले ही साफ कर चुके हैं कि संप्रग सरकार की तुलना में राजग सरकार ने राफेल के मूल विमान नौ फीसदी कम कीमत पर खरीदने का सौदा किया है। यही नहीं, युद्धक उपकरणों से लैस राफेल विमान की कीमत भी संप्रग सरकार की तुलना में 20 फीसदी कम है। लेकिन राहुल गांधी लगातार झूठ बोल रहे हैं और इसी झूठ की बुनियाद पर महल खड़ा करने की कोशिश कर रहे हैं, जो संभव नहीं है।

अर्थव्यवस्था को लेकर राहुल गांधी की समझ पर सवाल उठाते हुए भाजपा प्रवक्ता ने कहा कि संप्रग सरकार के दौरान 2013 में भारत की गिनती दुनिया की सबसे कमजोर अर्थव्यवस्था में की जा रही थी। वहीं अब आइएमएफ कह रहा है कि भारतीय अर्थव्यवस्था अगले तीस सालों तक दुनिया भर के लिए विकास की धुरी साबित होगा। आइएमएफ के अनुसार यह सब मोदी सरकार के दौरान लिए गए नोटबंदी और जीएसटी जैसे बड़े फैसलों की वजह संभव हुआ है।

पात्रा ने कहा कि नोटबंदी के बाद आयकर दाताओं की दोगुनी हुई संख्या को इसकी सफलता का सूचक है। उनके अनुसार नोटबंदी के दौरान ही सबसे नक्सलियों ने भी सबसे अधिक आत्मसमर्पण किया था। नोटबंदी के साथ ही मोदी सरकार ने कालेधन पर लगाम लगाने के लिए कई कड़े कानून बनाने का काम भी किया है।

 

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस