नई दिल्‍ली, एएनआइ। कर्नाटक की भाजपा सांसद शोभा कारंदलाजे के एक ट्वीट के खिलाफ केरल पुलिस ने मामला दर्ज किया है। इस ट्वीट में मलप्‍पुरम जिले में हिंदू परिवारों को पानी न देने का आरोप लगाया गया है क्‍योंकि उन्‍होंने नागरिकता संशोधन कानून पर अपना समर्थन व्‍यक्‍त किया था।

बता दें कि नागरिकता संशोधन कानून को समर्थन देने वाले मलप्‍पुरम के हिंदू परिवारों को कथित तौर पर पानी लेने से वंचित किए जाने को लेकर भारतीय जनता पार्टी की सांसद शोभा कारंदलाजे (Shobha Karandlaje) ने ट्वीट किया था। उनके इस दावे को सोशल मीडिया पर भी शेयर किया गया और कुछ मीडिया हाउसेज ने भी इस बारे में रिपोर्ट किया। भाजपा सांसद के खिलाफ धर्म, जाति व भाषा समेत कई मुद्दों के आधार पर विभिन्‍न समुदायों के बीच दुश्‍मनी को बढ़ावा देने के आरोप में मामला दर्ज किया गया है।

उडुपी-चिकमंगलूर से सांसद कारंदलाजे ने ट्वीट में मुस्‍लिम बहुल इलाके मलप्‍पुरम के कुट्टीपुरम पंचायत में नागरिकता कानून को समर्थन दे रहे हिंदू परिवारों को पानी न देने की बात कही गई। इस बारे में मलप्‍पुरम के पुलिस चीफ अब्‍दुल करीम ने एएनआइ को बताया, ‘उन्‍होंने गलत जानकारी फैलाई।’

पुलिस के अनुसार, इस इलाके में करीब एक साल से जल संकट है। बोरवेल की परेशानियों के कारण पंचायत करीब एक साल से पानी उपलब्‍ध कराने में सफल नहीं है। पुलिस ऑफिसर अरविंद ने बताया, ‘पानी के लिए प्राइवेट बोरवेल का इस्‍तेमाल किया जा रहा था लेकिन वह भी केरल इलेक्‍ट्रीसिटी बोर्ड की चेतावनी के बाद बंद हो गया। बोर्ड ने चेतावनी जारी कर कहा था कि मोटर का उपयोग इलेक्‍ट्रीसिटी के लिए किया जाता है और यदि किसी और कारणों से किया गया तो इसका कनेक्‍शन खत्‍म कर दिया जाएगा। बिजली काट दी जाएगी।’

वहीं भाजपा सांसद ने अपने खिलाफ दर्ज कराए गए मामले पर कहा कि सूत्रों से उपलब्‍ध जानकारी के आधार पर उन्‍होंने ट्वीट किया था।

 यह भी पढ़ें: सुप्रीम कोर्ट ने NSA पर हस्तक्षेप से किया इनकार, कहा- सिर्फ अहम मामले पर ही होगी सुनवाई

CAA Support: धू-धू कर जला लोहरदगा, हालात काबू में करने को पूरे शहर में धारा 144 लागू

 

Posted By: Monika Minal

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस