बेंगलुरु, प्रेट्र। कर्नाटक के मुख्यमंत्री एचडी कुमारस्वामी ने ऑडियो क्लिप विवाद में सच का पता लगाने के लिए सोमवार को विशेष जांच दल (एसआइटी) से जांच की घोषणा की। कुमारस्वामी ने ही यह ऑडियो क्लिप जारी की थी जिसमें प्रदेश भाजपा अध्यक्ष बीएस येद्दयुरप्पा कथित रूप से एक जेडीएस विधायक को लुभाने की कोशिश कर रहे थे।

विधानसभा के स्पीकर ने दिया था सुझाव

विवाद में खुद का नाम आने पर स्पीकर रमेश कुमार ने मुख्यमंत्री को एसआइटी गठन का सुझाव दिया था, जिसे मुख्यमंत्री ने मान लिया। भाजपा सदस्यों का कहना है कि जांच सिर्फ स्पीकर के खिलाफ आरोप तक सीमित रहनी चाहिए क्योंकि उन्हें सरकार पर विश्वास नहीं है। वह एसआइटी का दुरुपयोग कर सकती है। स्पीकर ने भी मुख्यमंत्री से कहा कि जांच में किसी को दुर्भावनापूर्ण तरीके से निशाना नहीं बनाया जाना चाहिए। जांच सिर्फ सत्य की पड़ताल तक सीमित रहनी चाहिए।

कुमारस्वामी ने शुक्रवार को एक ऑडियो क्लिप जारी की थी जिसमें येद्दयुरप्पा सरकार को अस्थिर करने के लिए एक जेडीएस विधायक को लुभाने की कोशिश कर रहे थे और भाजपा के मददगार विधायकों के पक्ष में फैसला देने के लिए स्पीकर को 50 करोड़ रुपये देने की बात कर रहे थे। वहीं, येद्दयुरप्पा ने कहा है कि अगर आरोप सही साबित हुए तो वह विधायकी छोड़ देंगे और राजनीति से भी संन्यास ले लेंगे।

इससे पहले भाजपा ने ऑडियो प्रकरण में कर्नाटक के मुख्यमंत्री एचडी कुमारस्वामी के खिलाफ रिपोर्ट दर्ज करा दी है। भाजपा का आरोप है कि उसके प्रदेश अध्यक्ष बीएस येद्दयुरप्पा को लेकर जारी ऑडियो क्लिप मनगढ़ंत, बनावटी और काट-छांट के साथ प्रस्तुत की गई है। मुख्यमंत्री एचडी कुमारस्वामी के खिलाफ विधान सौध थाने में भारतीय दंड संहिता की धारा 463 (धोखाधड़ी), 646 (फर्जी दस्तावेज तैयार करना) व सूचना प्रौद्योगिकी कानून के तहत रिपोर्ट दर्ज कराई गई है।

भाजपा ने रविवार को एक बयान में कहा, ‘कुमारस्वामी और उनके साथियों द्वारा येद्दयुरप्पा, उनके सहयोगी एमबी मारमकल और भाजपा के खिलाफ किए गए षड्यंत्र की जानकारी मिलने के बाद रिपोर्ट दर्ज कराई गई है। हमें उम्मीद है कि एजेंसी इसकी जांच करेगी और कुमारस्वामी व उनके साथियों के खिलाफ आपराधिक कृत्य के लिए कार्रवाई करते हुए न्याय दिलवाएगी।’

कर्नाटक में सरकार की अस्थिरता और राजनीतिक उथलपुथल का सामना कर रहे मुख्यमंत्री कुमारस्वामी ने शुक्रवार को एक ऑडियो क्लिप जारी किया था। इसमें बताया गया था कि येद्दयुरप्पा सत्तारूढ़ जदएस विधायक नगन गौड़ा को उनके बेटे शरणा गौड़ा के जरिये लुभाने की कोशिश कर रहे हैं। 

कुमारस्वामी द्वारा जारी इस ऑडियो क्लिप में बीएस येदियुरप्पा और जेडीएस विधायक नगनागौड़ा कांडकुर के बेटे शरना की बातचीत कर रहे हैं। इसमें येदियुरप्पा उनके पिता को 25 लाख और मंत्री पद देने का प्रस्ताव दे रहे हैं।

Posted By: Tanisk