हैदराबाद, एएनआइ। तेलंगाना में उपचुनाव से पहले भाजपा उम्मीदवार एम. रघुनंदन राव के एक रिश्तेदार के घर पुलिस तलाशी के दौरान जमकर बवाल हुआ। दुब्बाक विधानसभा उपचुनाव से पहले पुलिस ने सिद्दीपेट शहर में रघुनंदन राव के रिश्तेदार के घर से 18.67 लाख रुपये नकद जब्त किए थे। इसपर तेलंगाना राष्ट्र समिति (TRS) के नेता, कृषक ने मंगलवार को कहा कि भाजपा को हार का डर है, इसलिए पार्टी पैसे बांटने की कोशिश कर रही है।

एएनआई से बात करते हुए, तेलंगाना राष्ट्र समिति (टीआरएस) के नेता, कृष्णक ने कहा, 'जब भी भारतीय जनता पार्टी को लगता है कि उसकी हार होने वाली है वह हिंसा, तोड़-फोड़ और यहां तक कि भ्रष्टाचार पैदा करने की कोशिश करते हैं। कल भी भाजपा प्रत्याशी और दुब्बाक में इसी तरह का कार्य किया गया था। भाजपा प्रदेश अध्यक्ष भी शामिल रहे।

उन्होंने आगे कहा कि यह स्पष्ट था कि पुलिस ने जो पैसा जब्त किया था, वह रघुनंदन राव के रिश्तेदार के पास था और भाजपा के अनुयायियों ने जब्त रुपयों को छीन लिया। अगर यह रघुनंदन राव का रिश्तेदार नहीं था तो भाजपा के अनुयायी द्वारा पैसे क्यों छीने गए थे? भाजपा के अनुयायी वहां क्यों मौजूद थे? भाजपा कार्यकर्ता वहां क्यों मौजूद था?

उन्होंने आगे कहा कि पहले दुब्बाक के भाजपा कैंडिडेट रघुनंदन राव के 40 लाख रुपये जब्त किए गए थे। बाद में वे रंगे हाथों साड़ी बांटते पकड़े गए और अब 18 लाख रु। यह काफी स्पष्ट है कि भाजपा को हार का डर है और वे पैसे बांटने की कोशिश कर रहे हैं और इस संस्कृति का निर्माण भी कर रहे हैं। वे दिखाना चाहते हैं कि तेलंगाना में कानून और व्यवस्था की हिंसा या गड़बड़ी हो रही है और वे इन तर्ज पर राज्यपाल शासन की मांग कर रहे हैं।

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस