नई दिल्ली, प्रेट्र। भारतीय जनता पार्टी ने कांग्रेस पर तीखा हमला करते हुए कहा है कि राबर्ट वाड्रा भ्रष्टाचार के झरने का मुहाना हैं। साफ जाहिर होता है कि वाड्रा केवल एक पाइपलाइन हैं और भ्रष्टाचार का अंतिम ट्रैक तो संभवत: 'परिवार' को ही जाता है।

भाजपा प्रवक्ता संबित पात्रा ने शनिवार को कहा कि कांग्रेस पहले वाड्रा को एक अशासकीय व्यक्ति बताती थी, लेकिन अब उनके खिलाफ भ्रष्टाचार के मामले सामने आने के बाद से पूरी कांग्रेस पार्टी राबर्ट वाड्रा का बचाव करने में लगी हुई है। उन्होंने गांधी परिवार को निशाना बनाते हुए कहा, इससे पता चलता है कि वह भ्रष्टाचार की एक पाइपलाइन भर है। भ्रष्टाचार का असली स्रोत तो गांधी परिवार को ही जाता है।

उन्होंने राबर्ट वाड्रा के करीबियों के यहां प्रवर्तन निदेशालय (ईडी) के छापों का बचाव करते हुए कहा कि कांग्रेस मानती है कि भ्रष्टाचार करना उसका जन्मसिद्ध अधिकार है और उन्हें इस देश की सरजमीं पर कानून से परे रखा गया है। चूंकि उनका ताल्लुक 'प्रथम परिवार' से है।

पात्रा ने कहा कि मोदी सरकार के अधीन भ्रष्ट लोगों के खिलाफ जांच चल रही है। इससे कांग्रेसी हलकों में हलचल मची हुई है। उन्होंने कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी के बहनोई राबर्ट वाड्रा को भ्रष्टाचार के झरने का मुहाना करार दिया।

------------------------

इनसेट बॉक्स :-

--------------

बदले के लिए जांच एजेंसियों का इस्तेमाल : कांग्रेस

नई दिल्ली, प्रेट्र : राबर्ट वाड्रा के सहयोगियों पर प्रवर्तन निदेशालय के छापों के लिए कांग्रेस ने केंद्र सरकार पर राजनीतिक बदले की कार्रवाई का आरोप लगाया है। विपक्षी दल का आरोप है कि प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी विधानसभा चुनावों में बड़ी पराजय की आशंका से चिढ़कर राजनीतिक बदले के तहत जांच एजेंसियों का इस्तेमाल कर रहे हैं।

कांग्रेस के वरिष्ठ नेता कपिल सिब्बल ने शनिवार को पार्टी सहयोगियों अहमद पटेल और कांग्रेस प्रवक्ता रणदीप सुरजेवाला के साथ एक प्रेस कांफ्रेंस की। सिब्बल ने पूछा, 'लोगों का उत्पीड़न किया जा रहा है। उन्हें एक तरह से घरों में नजरबंद किया जा रहा है। उनके ठिकानों पर बिना किसी नोटिस के छापे मारे जा रहे हैं। क्या यही वह बदलाव है मोदी जी जिसकी वकालत 2014 के चुनावों में किया करते थे।' सिब्बल ने आरोप लगाया कि पीएम राजनीतिक बदला लेने के लिए जांच एजेंसियों का इस्तेमाल कर रहे हैं। वह सम्मान के साथ रहने वालों का नाम खराब करना चाहते हैं।

-------------------------

Posted By: Arun Kumar Singh