नई दिल्ली, आइएएनएस। पाकिस्तान के प्रधानमंत्री इमरान खान की कार्रवाई योग्य जानकारी की मांग को वित्त मंत्री अरुण जेटली ने भ्रामक और सतही बयान करार दिया है। जेटली ने कहा कि अपराध का स्त्रोत सबकी जानकारी में है और हालात से निपटने के प्रति भारतीय सुरक्षा बल विश्वास से भरे हैं।

मंगलवार को सुरक्षा मामलों की मंत्रिमंडलीय समिति (सीसीएस) में इस मामले पर विचार-विमर्श किया गया। बैठक के बाद अरुण जेटली ने बताया कि आतंकवाद की इस भयानक वारदात की सर्वत्र निंदा की गई है जिसमें सीआरपीएफ के 40 जवान शहीद हुए हैं। उन्होंने कहा कि इस आतंकी वारदात के मास्टरमाइंड खत्म किए जा चुके हैं और हमारे सुरक्षा बल सजगता बनाए रखेंगे।

वैश्विक समुदाय ने भी बड़े पैमाने पर भारत के रुख को सही ठहराया है। इमरान खान के बयान का जिक्र करते हुए जेटली ने कहा कि तीन चीजें बिल्कुल स्पष्ट हैं। पहली, इसमें वारदात की निंदा तक नहीं की गई है।

दूसरी, शहीद परिवारों के प्रति सहानुभूति तो छोडि़ए, जुबानी सहानुभूति भी नहीं व्यक्त की गई। तीसरी, कार्रवाई योग्य जानकारी मुहैया कराने जैसा बेहद सतही तर्क दिया गया है जबकि अपराध का स्त्रोत सभी को ज्ञात है। जेटली ने कहा, कार्रवाई योग्य जानकारी सिर्फ कुछ सुराग ही उपलब्ध करा सकती है और पुलवामा हमले के दोषियों ने अपराध स्वीकार किया है।

 

Posted By: Arun Kumar Singh

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस