नई दिल्ली, प्रेट्र। तृणमूल कांग्रेस, भारतीय कम्युनिस्ट पार्टी (भाकपा) व राष्ट्रवादी कांग्रेस पार्टी (राकांपा) ने सोमवार को चुनाव आयोग से अपील की है कि उनसे राष्ट्रीय पार्टी का दर्जा न छीना जाए। तीनों दलों के प्रतिनिधि आयोग के समक्ष निजी सुनवाई के लिए उपस्थित हुए थे।

उन्होंने आयोग से कहा कि तीनों पुरानी पार्टियां हैं और राष्ट्रीय राजनीति में प्रमुख भूमिका निभा चुकी हैं, इसलिए उनका दर्जा हालिया चुनावी प्रदर्शनों पर आधारित नहीं होना चाहिए।

भाकपा महासचिव डी. राजा ने मीडिया को बताया, 'हमने आयोग से कहा कि हम देश की पुरानी पार्टी हैं। आजादी में अग्रणी भूमिका निभा चुके हैं। हमने आग्रह किया है कि हमारा राष्ट्रीय दर्जा रहने दिया जाए।'

तृणमूल के कल्याण बनर्जी ने कहा, 'वर्ष 2016 में नियम बदले थे। इसके तहत दो चुनाव बाद पार्टी के दर्जे की समीक्षा होनी चाहिए, इसलिए नोटिस हम पर प्रभावी नहीं होता है।'

राकांपा नेता माजिद मेनन ने आयोग से कहा, 'हमारी पार्टी 15 साल तक महाराष्ट्र की सत्ता में रही है। हम सत्ता में लौटेंगे। हमें मौका दिया जाना चाहिए।'

फिलहाल, कांग्रेस, भाजपा, बसपा, भाकपा, भाकपा (मा‌र्क्सवादी), तृणमूल, राकांपा और नेशनल पीपुल्स पार्टी ऑफ मेघालय को राष्ट्रीय पार्टी का दर्जा प्राप्त है।

Posted By: Nitin Arora

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस