नई दिल्ली, एजेंसी। महाराष्ट्र में सरकार गठन को लेकर गहमाहमी जारी है। इस बीच कांग्रेस और एनसीपी की आज संयुक्त बैठक हो रही हैै, जिसके पहले कांग्रेस नेता अहमद पटेल, शरद पवार के घर पहुंचे हैं। महाराष्ट्र में सरकार के गठन को लेकर यह बैठक बेहद महत्वपूर्ण है, कहा जा रहा है कि इस बैठक से निकलने के बाद महाराष्ट्र में सरकार गठन पर कोई बड़ा ऐलान कल किया जा सकता है।

एनसीपी नेताओं की बैठक हुई

इससे ठीक पहले एनसीपी के नेताओं ने आज इसपर मिलकर चर्चा की है। पार्टी के सूत्रों ने कहा कि एनसीपी के नेताओं ने गुरुवार को महाराष्ट्र में सरकार बनाने के लिए शिवसेना के साथ गठबंधन के तौर-तरीकों पर चर्चा की है।

एनसीपी के सूत्रों ने कहा कि मुख्यमंत्री का पद संभावित रूप से रोटेशन के आधार पर होगा और पार्टी पांच साल के कार्यकाल के लिए इस पद पर काबिज होगी। इस बैठक में राज्य के नेता अजीत पवार, नवाब मलिक, राकांपा अध्यक्ष जयंत पाटिल, सुनील तटकरे और छगन भुजबल उपस्थित थे।

कांग्रेस नेताओं की बैठक

उससे पहले पहले दिन में कांग्रेस कार्य समिति (सीडब्ल्यूसी) ने महाराष्ट्र में राजनीतिक हालात की समीक्षा की। इसके एक दिन पहले एनसीपी के साथ राज्य में सरकार बनाने के लिए शिवसेना के साथ गठबंधन करने पर मैराथन बैठक हुई थी। कांग्रेस और एनसीपी के शीर्ष नेता भी शिवसेना के साथ अपने गठबंधन की सीमाओं को अंतिम रूप देने के लिए मिलेंगे।

बता दें, इससे पहले कांग्रेस और एनसीपी के नेताओं की बुधवार को भी बैठक हुई थी।

चव्हाण ने कहा- जल्द होगी बड़ी घोषणा

चव्हाण ने समाचार एजेंसी एएनआइ से कहा, 'हमारी(कांग्रेस-एनसीपी) बैठक के दौरान चर्चा खत्म हो गई है। हमने कई मुद्दों को सुलझा लिया है, इस बैठक के दौरान हम फोन के जरिए शिवसेना के नेतृत्व से जुड़े हुए थे। इसके आगे अब शुक्रवार को कांग्रेस और एनसीपी बैठक में हम अलग से मिलेंगे, जिसके बाद दोनों पार्टियां दोपहर में एक साझा बैठक भी करेंगी। इस बैठक के बाद हम शाम को मुंबई रवाना होंगे। इसके बाद शनिवार को शिवसेना, कांग्रेस और एनसीपी तीनों पार्टियों की एक साझा बैठक होगी। इस बैठक के खत्म होने के बाद हम घोषणा करेंगे।'

22 नवंबर को हो सकती है घोषणा

सूत्रों के हवाले से खबर है कि 22 नवंबर को महाराष्ट्र में नई सरकार बनाने की घोषणा हो सकती है। समाचार एजेंसी आइएएनएस ने सूत्रों के हवाले ये यह जानकारी दी है।कांग्रेस और एनसीपी के बीच बुधवार को यहां एक सफल' बैठक के बाद, सूत्रों ने कहा कि दोनों दलों के नेता गुरुवार को फिर से राष्ट्रीय राजधानी में मिलेंगे, जिसके बाद वे बातचीत करने के लिए मुंबई के लिए उड़ान भरेंगे।

सूत्रों ने कहा कि सरकार बनाने का सौदा 50-50 के फॉर्मूले पर अंतिम रूप दिया गया है। सूत्रों ने कहा कि मुख्यमंत्री का पद दोनों दलों के उम्मीदवारों के बीच ढाई साल तक साझा किए जाने की संभावना है। हालांकि, यह तय होना बाकी है कि पहले ढाई सालों के लिए मुख्यमंत्री कौन होगा।

इसे भी पढ़ें: CWC Meeting: महाराष्ट्र में सरकार बनाने पर चर्चा, कांग्रेस ने तय की आगे की रणनीति

Posted By: Shashank Pandey

अब खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस, डाउनलोड करें जागरण एप