जागरण ब्यूरो, नई दिल्ली। जेपी नड्डा को भाजपा की कमान सौंपते हुए निवर्तमान अध्यक्ष अमित शाह ने पार्टी की उपलब्धियां और खूबियों को गिनाते हुए आगे की चुनौतियों की रूपरेखा भी सामने रखी। शाह ने बताया कि भाजपा दुनिया की सबसे बड़ी राजनीतिक पार्टी जरूर बन गई और असंभव माने जाने वाले राज्यों में चुनावी परचम लहराने में कामयाब रही है, लेकिन अभी भी देश के बड़े हिस्से में उसकी पहुंच नहीं बन पाई है।

कांग्रेस समेत अन्य दलों पर अमित शाह का कटाक्ष

जेपी नड्डा के एक छोटे कार्यकर्ता से पार्टी अध्यक्ष तक सफर को याद करते हुए अमित शाह ने कांग्रेस समेत अन्य दलों पर कटाक्ष भी किया। शाह के अनुसार परिवारवाद, वंशवाद और जातिवाद के फंसी दूसरी पार्टियों के विपरीत भाजपा ने एक कार्यकर्ता को निर्विरोध अध्यक्ष चुनकर अपनी पुरानी परंपरा को कायम रखा है। पिछले साढ़े पांच साल के कार्यकाल को याद करते हुए शाह ने बताया कि इस दौरान न सिर्फ भाजपा का संगठनात्मक ढांचा पूरे देश में फैला, बल्कि नरेंद्र मोदी के नेतृत्व ने सरकार ने भी देश के 60 करोड़ गरीबों के बेहतर जीवन के लिए योजनाओं को लागू कर कल्याणकारी राज्य की अवधारणा को जमीन पर उतारने का काम किया।

मोदी के नेतृत्व में पूर्ण बहुमत के साथ सफलता

वैसे तो पार्टी विश्व की सबसे बड़ी पार्टी बनी। पूरे देश में संगठनात्मक विकास हुआ। कई राज्यों में सफलता प्राप्त हुई। मोदी के नेतृत्व में फिर एक बार पूर्ण बहुमत के साथ सफलता प्राप्त की। उन्होंने बताया कि किस तरह मोदी सरकार ने धारा 370, अयोध्या, तीन तलाक से लेकर सीएए तक पार्टी के वायदे को पूरा करने का काम किया है।

पार्टी और सरकार की उपलब्धियां गिनाते हुए अमित शाह ने भविष्य की चुनौतियों को भी सामने रखी। उन्होंने कहा कि बहुत सारे ऐसे क्षेत्र छुट गए हैं, जहां हमें अभी चुनावी सफलता प्राप्त करना बाकी है। इसके साथ ही अभी भी संगठन को बूथ तक पहुंचाने का काम बाकी है। उन्होंने उम्मीद जताई कि नड्डा के कार्यकाल में भी पार्टी इन अधूरे काम को पूरा करने में सफल होगी।

Posted By: Dhyanendra Singh

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस