नरेन्द्र शर्मा, जयपुर। भाजपा अध्यक्ष अमित शाह ने शनिवार को राजस्थान के भाजपा नेताओं और कार्यकर्ताओं को विधानसभा चुनाव में जीत का "चाणक्य" मंत्र दिया। चुनावी गणित बिठाने और संगठनात्मक क्षमता के मामलों में माहिर माने जाने वाले अमित शाह ने एक तरफ जहां कार्यकर्ताओं से मतदान सम्पन्न होने तक पार्टी के लिए दिन में 18 घंटे काम करने का आह्वान किया।

वहीं नेताओं को एकजुट रहने की नसीहत देते हुए कहा कि सरकार है तो सब है, नहीं तो हवलदार भी 'सैल्यूट' नहीं करता। नेताओं को अहंकार छोड़कर कार्यकर्ताओं की सुध लेने की नसीहत देते हुए शाह ने कहा कि पांच लाख सक्रिय सदस्य ही पार्टी को चुनाव जीता सकते हैं। 5 लाख में से प्रत्येक सक्रिय सदस्य यदि 3 लोगों का मतदान पार्टी के पक्ष में करवाए तो सरकार बन सकती है।

शाह ने कहा कि कार्यकर्ताओं को असमंजस के दौर से बाहर निकलकर लोगों के बीच जाकर काम करना होगा । प्रत्येक कार्यकर्ता को पीएम नरेन्द्र मोदी की तरह दिन के 24 में से 18 घंटे काम करना होगा। शाह ने शनिवार को जयपुर के तोतूका भवन में प्रदेश कार्यसमिति की दो दिवसीय बैठक के समापन सत्र को संबोधित करने के साथ ही सांसदों और विधायकों के साथ सीधा-संवाद किया। इस दौरान उन्होंने कार्यकर्ताओं को पार्टी की रीढ़ की हड्डी बताते हुए कहा कि आज से विधानसभा चुनाव की मतगणना सम्पन्न होने तक नेताओं और कार्यकर्ताओं को मिलकर मेहनत करनी होगी।

उन्होंने कहा कि कार्यकर्ता ही भाजपा की पहचान है। जोशीले कार्यकर्ताओं के बल पर ही चुनावी युद्ध जीता जा सकता है । उन्होंने कहा भी आज पूरा देश भाजपामय हो गया है । देश में सबसे अधिक सांसद और विधायक भाजपा के है। कुछ राज्यों को छोड़कर पूरे देश में भाजपा की सत्ता है । उन्होंने कहा कि देश में भाजपा को सत्ता का हक है,कंग्रेस अब खत्म हो चुकी है । उन्होंने कार्यकर्ताओं से कांग्रेस से कुप्रचार का जवाब तत्काल देने का आह्वान करते हुए कहा कि वर्तमान में विपक्ष के पास भाजपा के खिलाफ बोलने के लिए कुछ भी नहीं है । 

राजस्थान में सरकार बदलने की धारणा बदलेंगे 

राजस्थान विधानसभा चुनाव की चर्चा करते हुए अमित शाह ने कहा कि पूरे देश की नजर राजस्थान पर है । आगामी विधानसभा चुनाव में प्रदेश में प्रत्येक 5 साल में सरकार बदलने की धारणा को इस बार बदला जाएगा । उन्होंने कहा कि राजस्थान में चुनाव जीतकर भाजपा की विजय यात्रा और देश की विकास यात्रा अनवरत जारी रहेगी । उन्होंनें कहा कि राज्य की वसुंधरा राजे सरकार की पीठ थपथपाने के साथ केन्द्र सरकार की योजनाओं को जनप्रिय बताया।

उन्होंने कहा कि केन्द्र और राज्य सरकार की योजनाओं की जानकारी आम लोगों तक पहुंचाकर चुनाव जीता जा सकता है। उन्होंने केन्द्र और राज्य सरकार की योनजाओं के लाभान्वितों के माध्यम से आम लोगों तक अपनी पहुंच बनाने की बात कही। इस मौके पर मुख्यमंत्री वसुंधरा राजे ने कहा कि चुनाव में भाजपा एक बार फिर 200 में से 180 सीटें जीतकर सरकार बनाएगी। राज्य सरकार की योजनाओं की चर्चा करते हुए उन्होंने कहा कि आज आम आदमी खुश है। इस दौरान पार्टी के प्रदेश अध्यक्ष मदन लाल सैनी ने संगठनात्मक जानकारी दी । 

आचार संहिता लागू होने से पहले का चुनावी रोडमैप तैयार 

भाजपा ने राज्य विधानसभा चुनाव की आचार संहिता लागू होने से दो माह पहले का चुनावी रोडमैप तैयार किया है । इसके तहत 27 जुलाई को गुरू पुर्णिमा पर विशेष कार्यक्रम, अगस्त माह में प्रधानमंत्री लाभार्थी संवाद कार्यक्रम, राष्ट्रीय अध्यक्ष अमित शाह और केन्द्रीय मंत्रियों के दौरे, मुख्यमंत्री वसुंधरा राजे की "सुराज गौरव यात्रा" राज्य के सभी 200 विधानसभा क्षेत्रों में तिरंगा संदेश यात्रा, पोलिंग बूथ स्तर के कार्यकर्ताओं का सम्मेलन और मतदाताओं से जनसम्पर्क के कार्यक्रम होंगे।

सितम्बर माह में प्रत्येक विधानसभा क्षेत्रों में युवा मतदाता सम्मेलन, अजा और जजा मोर्चा के प्रदेश स्तरीय सम्मेलन, महिला सम्मेलन, एससी और एसटी बूथ विस्तारक अभियान और मतदाताओं को भाजपा के पक्ष में एकजुट करने के लिए घर-घर जनसम्पर्क अभियान। चुनाव आचार संहिता लागू होने से पूर्व प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी की दो यात्राएं आयोजित कराने का भी निर्णय लिया गया है। ये यात्राएं उदयपुर और कोटा संभाग में कराने पर विचार करने की बात कही गई है । 

ये दिग्गज रहे मौजूद 

भाजपा की दो दिवसीय प्रदेश कार्यसमिति की बैठक में भाजपा के राष्ट्रीय संगठन महामंत्री रामलाल,सह संगठन महामंत्री वी.सतीश, प्रदेश प्रभारी अविनाश राय खन्ना, राष्ट्रीय उपाध्यक्ष ओमप्रकाश माथुर, भूपेन्द्र यादव, केन्द्रीय मंत्री विजय गोयल, सीआर चौधरी, पीपी चौधरी, गजेन्द्र सिंह शेखावत, अर्जुन राम मेघवाल, प्रदेश के सांसद, विधायक, प्रदेश पदाधिकारी और जिला अध्यक्षों के साथ ही वरिष्ठ नेता बैठक में शामिल हुए ।    

Posted By: Arun Kumar Singh